बांगरमऊ में प्रसूता को चढ़ाया गलत ग्रुप का ब्लड:हालत नाजुक, निजी अस्पताल संचालक ने ही कराई थी पैथोलॉजी से जांच, मुकदमा दर्ज

बांगरमऊ18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

उन्नाव जिले के बांगरमऊ में पैथालाजी में खून जांच की गलत रिपोर्ट आ गई। इससे निजी नर्सिंग होम के डॉक्टर ने प्रसव के बाद महिला को गलत रक्त चढ़ा दिया। इससे उसकी हालत बिगड़ गई। महिला के पति ने अस्पताल के खिलाफ कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस रिपोर्ट के आधार पर मामले की जांच कर रही है।

खून लाने के लिए 7 हजार रुपए नगद जमा कराए

हरदोई जिले के मल्लावा थाना क्षेत्र के बक्खा पुरवा गांव निवासी मेवालाल ने कोतवाली में तहरीर दी। बताया कि 4 सितंबर को उसने अपने भाई अनिल की पत्नी प्रभा को प्रसव के लिए बांगरमऊ के स्वाति हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। यहां डॉक्टर ने मरीज की हालत गंभीर बताते हुए खून की कमी बताई। खून लाने के लिए 7 हजार रुपए नगद जमा कराए।

इसके बाद कहीं से खून लाकर मरीज को चढ़ा दिया। रक्त चढ़ते ही मरीज की हालत बिगड़ने लगी। यह देख कर वह मरीज को लेकर कानपुर पहुंचे। जहां जांच के दौरान पता चला कि डॉक्टर द्वारा मरीज को दूसरे ग्रुप का खून चढ़ा दिया है। इससे उसकी हालत बिगड़ गई है।

बांगरमऊ की पैथॉलाजी से खून की जांच कराई थी

पीड़ित ने बताया कि अस्पताल संचालक ने बांगरमऊ की पैथॉलाजी से खून की जांच कराई थी। उस रिपोर्ट में ब्लड ग्रुप बी पॉजिटिव बताया गया था। जबकि कानपुर के कई जांच केंद्रों में जांच की गई तो जांच में ब्लड ग्रुप बी निगेटिव बताया गया। तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

खबरें और भी हैं...