• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Unnao
  • 9 Years Ago, A Case Was Registered In The Case Of Violation Of The Code Of Conduct, The Case On 15, Has To Be Presented Before The Court

उन्नाव में पुलिस से बचकर भागे भाजपा के नेता:9 साल पहले आचार संहिता उल्लंघन के मामले में दर्ज हुआ था 15 पर केस, कोर्ट के सामने होना है पेश

उन्नाव21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने दबिश दी, तो भाग गए भाजपा के नेता। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने दबिश दी, तो भाग गए भाजपा के नेता।

उन्नाव में 9 साल पहले दर्ज आचार संहिता उल्लंघन के मामले में शनिवार देर रात पुलिस ने कई भाजपा नेताओं के घर दबिश दी। दबिश की जानकरी मिलते ही भाजपा नेता पीछे के दरवाजे से भाग निकले। बताया जा रहा है कि 9 साल पहले विधानसभा चुनाव के दौरान आचार संहिता के उल्लंघन में सदर विधायक समेत 15 पर मुकदमा दर्ज किया गया था। इनमें से दो की मौत हो चुकी है, जबकि तीन जमानत करा चुके हैं।

दो नेताओं का हो चुका है निधन

मामले में सदर विधायक समेत जितेंद्र सिसोदिया और सूर्यकुमार वाजपेयी ने जमानत करा ली है। मामले में आरोपित पूर्व सभासद आशीष त्रिपाठी और पूर्व भाजपा जिला उपाध्यक्ष का निधन हो गया है। वहीं 10 आरोपियों को न्यायालय के समक्ष पेश करने के लिए गंगाघाट कोतवाली पुलिस को कोर्ट ने सख्त निर्देश दिए हैं।

आरोपियों को पकड़ने गई थी पुलिस

शनिवार को इसी मामले में आरोपियों की तलाश को लेकर आनंद नगर, गांधी नगर, गोपीनाथ पुरम, नेहरू नगर, राजमार्ग, आदर्श नगर समेत कई स्थानों पर पुलिस ने दबिश दी, लेकिन कोई भी आरोपी हाथ नहीं लगा। पुलिस ने देर रात आरोपियों को पकड़ने के लिए दोबारा दबिश दी, तो कई भाजपा नेता पीछे के दरवाजे से भाग निकले। पुलिस का कहना है जिनकी जमानत नहीं हुई है, उन्हें कोर्ट के समक्ष पेश करना है।

भागने वाले भाजपा नेताओं में बालेश शर्मा, बृजेश त्रिपाठी, प्रदीप मिश्रा, अशोक तिवारी, अजय त्रिवेदी, मनीष जायसवाल, राज नारायण मिश्रा और गोविंद तिवारी शामिल हैं। पुलिस इन नेताओं को पकड़ने के लिए लगातार प्रयास कर रही है।