उन्नाव में सपाइयों ने फाड़ी सीएम योगी की फोटो:अखिलेश यादव की गिरफ्तारी से नाराज होकर दिया धरना, योगी-मोदी हाय हाय के लगाए नारे

उन्नाव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उन्नाव में सपाइयों ने सीएम योगी की फोटो फाड़कर जताया विरोध। - Dainik Bhaskar
उन्नाव में सपाइयों ने सीएम योगी की फोटो फाड़कर जताया विरोध।

उन्नाव में सपा कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने अखिलेश यादव की गिरफ्तारी से नाराज होकर धरना प्रदर्शन किया और सीएम योगी आदित्यनाथ की फोटो फाड़ दी। उन लोगों की मांग है कि खीरी-लखीमपुर प्रकरण में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की गिरफ्तारी होनी चाहिए। जब तक उनके नेता को रिहा नहीं किया जाएगा। तब तक उनका धरना जारी रहेगा। इसके साथ ही उन लोगों ने योगी-मोदी हाय हाय के नारे लगाए हैं। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल व जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे। जो लगातार आक्रोशित लोगों को समझाने का प्रयास करते रहे।

सपा नेताओं ने उठाई डिप्टी सीएम की गिरफ्तारी की मांग
जिले के हरदोई पुल पर पूर्व राज्य मंत्री सुधीर रावत ने कार्यकर्ताओं के साथ धरना देकर मार्ग जाम कर दिया। इसके बाद सपा के जिला अध्यक्ष धर्मेंद्र यादव, सुरेश पाल, वीरेंद्र शुक्ला समेत अन्य तमाम सपा नेता डीएम ऑफिस के बाहर पहुंच गए। जहां धरना देते हुए कहा कि खीरी में किसानों के साथ हुई घटना की वह निंदा करते हैं। साथ ही कहा कि अखिलेश यादव को रिहा किया जाए। केशव प्रसाद मौर्य को गिरफ्तार किया जाए।

किसानों को सरकार मार भी रही है और रोने नहीं दे रही
पूर्व राज्यमंत्री सुधीर रावत ने कहा कि एक तो किसान इस सरकार में परेशान है बेहाल है। किसान इतना मजबूर है कि आत्महत्या करने पर विवश है। ऊपर से तीन काले कृषि कानून लाए हैं। लगभग साल भर से किसान धरने पर बैठा है। आप बताइए जिन किसानों के लिए कानून लाया गया है वह किसान जब उस कानून का विरोध कर रहे हैं। तो सरकार को यह कानून वापस ले लेना चाहिए। कल लखीमपुर खीरी में मंत्री के बेटे ने किसानों पर गाड़ी चढ़ा कर उनकी निर्मम हत्या कर दी। जब हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि हम किसानों की मदद करने के उनके यहां दुख संवेदना व्यक्त करने जाएंगे। तो आज पुलिस ने हमारे नेता को गिरफ्तार कर लिया। अगर हमारे आपके यहां कोई हादसा हो जाता है। तो लोग संवेदना व्यक्त करने जाते हैं। उसकी मदद करते हैं। यह कैसी सरकार है कि हमको मदद भी नहीं करने देती किसानों को न्याय भी नहीं दे रही है। उनको मार भी रही है रोने भी नहीं दे रही है। हमारे नेता को जब तक रिहा नहीं किया जाएगा। तब तक हम समाजवादी लोग धरना देते रहेंगे। इसके लिए चाहे गोली खानी पड़े चाहे कुछ भी करना पड़े हम लोग बैठे रहेंगे।

भाजपा सरकार की राज्यपाल करे बर्खास्तगी
लखीमपुर में जिस तरह किसानों की निर्मम हत्या की गई है। वह भी भारतीय जनता पार्टी के उपमुख्यमंत्री की मौजूदगी में। उसकी हम निंदा करते हैं। वहां के किसान जब शांतिपूर्ण तरीके से जा रहे थे। तब भाजपा के एक मंत्री के बेटे ने रसूख दिखाते हुए लाठियों से हमला कर उनकी हत्या की और उसके बाद उन पर गाड़ी चढ़ाई। हमारे नेता अखिलेश यादव जब उनसे मिलने जा रहे थे। तब लोकतंत्र का गला घोटते हुए उनको गिरफ्तार किया गया है। अखिलेश यादव गिरफ्तार होंगे तो पूरे उत्तर प्रदेश के अंदर एक एक जनपद में हजारों लाखों नौजवान किसान गिरफ्तार होगा। हमारी मांग है किसान विरोधी सरकार बर्खास्त की जाए। केशव मौर्य सहित अन्य दोषी लोगों पर केस दर्ज हो और राज्यपाल महोदय संज्ञान में लेते हुए तत्काल इस सरकार की बर्खास्तगी करें। तब समाजवादी लोग अपना आंदोलन बंद करेंगे। हम सब के नेता अखिलेश यादव सड़क पर हैं किसानों की लड़ाई लड़ रहे हैं और किसान अगर मारा जाएगा दबाया जाएगा तो लोकतंत्र में समाजवादी लोग मूक दर्शक नहीं बने रहेंगे। विपक्षी पार्टी होने के नाते हमारी नैतिक जिम्मेदारी है कि हम लोकतंत्र की हत्यारी सरकार को जेल भेजने का कार्य करें। हमारी मांग है कि राज्यपाल महोदय सरकार को तत्काल बर्खास्त करें।

खबरें और भी हैं...