VIDEO, BJP विधायक को मंच पर किसान ने मारा थप्पड़:उन्नाव में लाठी लेकर MLA पंकज गुप्ता के पास पहुंचा था, सरकार बोली- ये किसान का अपनापन

उन्नाव14 दिन पहले

उन्नाव में सदर सीट से भाजपा विधायक पंकज गुप्ता को एक किसान ने जनसभा के मंच पर सबके सामने थप्पड़ लगा दिया। पहले यह देखकर किसी को कुछ समझ में नहीं आया, लेकिन उसके बाद पुलिस वाले हरकत में आए और जबरन किसान को मंच से नीचे उतारा।

किसान की उम्र 60 साल के करीब थी और उसने भारतीय किसान यूनियन की टोपी पहन रखी थी। उसके एक हाथ में लाठी थी। अभी थप्पड़ मारने का कारण पता नहीं चला है। एक चैनल से बातचीत में विधायक थप्पड़ मारने वाली बात से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि जनसभा में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ था। लेकिन इस घटना का वीडियो वायरल हो रहा है।

यह वाकया दो दिन पुराना है। जानकारी के अनुसार, विधायक पंकज गुप्ता बुधवार को माखी थाना क्षेत्र के ऐरा भदियार में थे। यहां अमर शहीद गुलाब सिंह लोधी की जयंती कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे। वहां जनसभा का भी कार्यक्रम था। विधायक मंच पर थे, तभी बुजुर्ग किसान लाठी पटकते हुए मंच पर उनके नजदीक पहुंचा और थप्पड़ जड़ दिया। कार्यक्रम में सांसद साक्षी महाराज भी मौजूद थे।

थप्पड़ मारने वाले किसान छतरपाल के साथ विधायक पंकज गुप्ता।
थप्पड़ मारने वाले किसान छतरपाल के साथ विधायक पंकज गुप्ता।

थप्पड़ पर विधायक की सफाई
सरेआम किरकिरी होने के बाद विधायक पंकज गुप्ता ने थप्पड़ मारने वाले बुजुर्ग छतरपाल के साथ शुक्रवार की शाम अपने कैंप कार्यालय में प्रेंस कॉन्फ्रेंस की। विधायक ने कहा कि छतरपाल उनके चाचा के समान हैं, पिता तुल्य हैं। वीडियो को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है। सदर विधानसभा में विरोधियों को कोई प्रत्याशी भी ढूंढने से नहीं मिल पा रहा है, इसलिए इस तरह के कुचक्र रचे जा रहे हैं।

उधर, बुजुर्ग छतरपाल ने कहा कि उन्होंने थप्पड़ नहीं मारा। जिस तरह मैं वीडियो में मारते हुए दिख रहा हूं, वैसे मैंने विधायक को 50 बार मारा है। हमारी और इनकी कौन सी दुश्मनी है। कौन हमारी एक बिस्वा जमीन दबाए हुए हैं, जो हमारी इनकी दुश्मनी होगी। यह सिर अपना नीचे किए थे। हम मंच पर गए। हमने कहा- काहे बबुआ का हाल है। क्यों खोपड़ी नहीं ऊपर किए हो और प्यार में टीप मार दी थी।

किसान को पुलिस कर्मियों ने जबरन मंच से नीचे उतरा।
किसान को पुलिस कर्मियों ने जबरन मंच से नीचे उतरा।

किसान नेता हैं छतरपाल
स्थानीय लोगों की माने तो छतरपाल किसान नेता हैं। वह अपनी फसलों को सर्द रातों में खेतों में रात दिन मेहनत कर रखवाली कर रहे हैं। सैकड़ों की संख्या में घूमने वाले आवारा जानवर उनकी फसल नष्ट कर देते हैं। इसी बात से नाराज होकर किसान ने यह कदम उठाया।

सदर सीट से भाजपा विधायक पंकज गुप्ता को किसान ने मंच पर थप्पड़ जड़ दिया।
सदर सीट से भाजपा विधायक पंकज गुप्ता को किसान ने मंच पर थप्पड़ जड़ दिया।

75 लाख के डिफॉल्टर रह चुके हैं सदर विधायक
भाजपा विधायक पहले भी चर्चा में रहे हैं। 30 जुलाई 2020 को रात करीब 2 बजे विधायक पंकज गुप्ता पुलिस के खिलाफ कोतवाली में धरने पर बैठ गए थे। उन्होंने सीओ सिटी पर सपा मानसिकता से काम करने का आरोप लगाया था। सदर विधायक समर्थकों के साथ सुबह 5 बजे तक धरने पर बैठे रहे। डीएम और एसपी के कोतवाली पहुंचने पर धरना खत्म हुआ था।

वहीं, 19 मार्च 2020 को विधायक को एक बैंक ने डिफॉल्टर घोषित कर किया था। विधायक पर आरोप था कि 2013 में विधायक पंकज गुप्ता ने कोआपरेटिव बैंक से 2.25 करोड़ रुपए का कर्ज लिया था, मगर 75 लाख रुपये का ब्याज नहीं चुकाया। लिहाजा बैंक ने कार्रवाई करते हुए बीजेपी विधायक पंकज गुप्ता को 75 लाख रुपए का डिफॉल्टर घोषित किया था।

सरकार ने कहा, यह किसान का अपनत्व था

उत्तर प्रदेश सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने उन्नाव की घटना को भ्रामक बताया है। #फैक्ट चेक नाम से एक पोस्टर जारी कर कहा है कि वायरल वीडियो भ्रामक है। बुजुर्ग किसान यूनियन के नेता हैं जो विधायक के 2012 के चुनाव के साथी हैं। इनके विधायक से करीबी रिश्ते हैं। उन्होंने अपनत्व की भावना के साथ व्यवहार दिखाया था।

सूचना विभाग की तरफ से जारी पोस्टर।
सूचना विभाग की तरफ से जारी पोस्टर।