उन्नाव में पीएचसी में लगा आरोग्य मेला:बदलते मौसम में डायरिया के बढ़ रहे मरीज, 70 से अधिक मरीजों को परीक्षण कर दी गई दवा

उन्नाव19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रविवार को उन्नाव में पीएचसी में आरोग्य मेले का आयोजन किया गया। - Dainik Bhaskar
रविवार को उन्नाव में पीएचसी में आरोग्य मेले का आयोजन किया गया।

उन्नाव नगर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में रविवार को मुख्यमंत्री जन आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया जाता है। स्वास्थ्य विभाग मेले को लेकर कोई प्रचार-प्रसार नहीं कर रहा है। इस कारण मेले में मरीज बहुत कम पहुंच रहे है। पहुंचे मरीजों को डाक्टरों ने सलाह दी है कि बदलते मौसम में खुद का ध्यान रखे। बरसात के मौसम में गन्दा पानी आस पास न जमा होने दे। इसमें डेंगू के मच्छर पनपते हैं।

रविवार को मुख्यमंत्री जन आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन नगर के राजधानी मार्ग स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में किया गया। वहां प्रचार-प्रसार न होने के कारण मरीजों की संख्या कम रही। सुबह से ही स्वास्थ्य मेले में एलोपैथिक, आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक के डॉक्टर मरीजों का परीक्षण करने के लिये शिविर में पहुंचे। अधिकांश मरीज बुखार जुखाम और डायरिया से पीड़ित मिले, जिनका शिविर में मौजूद डॉक्टरों ने परीक्षण किया गया।

उन्नाव पीएचसी में आरोग्य मेले का आयोजन किया गया।
उन्नाव पीएचसी में आरोग्य मेले का आयोजन किया गया।

परामर्श के साथ दी गईं दवाएं
डॉ. राजेश चंद्रा ने भी मरीजों को परामर्श देने के साथ ही दवाइयां बांटी। स्वास्थ्य कर्मियों ने बताया कि 70 से अधिक मरीजों का परीक्षण कर उन्हें दवाइयां दी गई हैं। इसमें चर्म रोग, लीवर पेट से संबंधित, सांस, मधुमेह, उच्च रक्त चाप, खून की कमी, गर्भवती महिलाओं के अलावा अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीज पहुंचे। इसके अलावा पीएचसी में कोविड जांच भी की गई।

इम्यूनिटी का रखें ख्याल, बीमारियों से बचें
सीएचसी सिकंदरपुर कर्ण में तैनात डॉ. आशुतोष वार्ष्णेय ने बताया कि बदलते मौसम में वायरल बुखार और सर्दी जुकाम होना आम बात है। इसमें एंटीबायोटिक्स और दवाइयों का बहुत अधिक रोल नहीं होता है। लोग अपना इलाज घर में ही कर सकते हैं। आप अपनी इम्यूनिटी को मजबूत रखकर वायरल बुखार से बच सकते हैं। इसके लिए लोग हरी सब्जियों, खट्टे फल और हल्दी-दूध का नियमित सेवन करते रहें।

खबरें और भी हैं...