प्रेमी जोड़े की हत्या, शव एसिड से जलाया:7 दिन से लापता थे दोनों; कंकाल हो चुके शव की चप्पल, कपड़ों से शिनाख्त; उन्नाव की घटना

उन्नावएक महीने पहले
यह वारदात उन्नाव जिले में बांगरमऊ कोतवाली के भिखरियापुर गांव की है। फॉरेंसिक टीम ने भी मौके से साक्ष्य जुटाए।

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक दिल दहालने वाली वारदात हुई है। यहां प्रेमी जोड़े की हत्या करके शव को एसिड डालकर जला दिया। दोनों 12 अक्टूबर से लापता थे। मंगलवार सुबह गांव के बाहर खेत में दोनों के जले हुए शव मिले। शव लगभग कंकाल हो चुके थे। कपड़े, मोबाइल और चप्पल से उनकी शिनाख्त की गई। फिलहाल, पुलिस इसे ऑनर किलिंग का मामला मानकर जांच कर रही है।

वारदात बांगरमऊ कोतवाली के भिखरियापुर गांव की है। सीओ आशुतोष कुमार ने बताया कि परिजनों ने शवों की शिनाख्त की है। मृतक युवक का नाम बालकिशन उम्र 22 साल है। जबकि लड़की 16 साल की है। दोनों भिखरियापुर गांव के ही रहने वाले थे। कुछ ग्रामीणों ने मंगलवार को सबसे पहले शवों को देखा। इसके बाद पुलिस को सूचना दी। शिनाख्त न हो पाए, इसलिए हत्या के बाद शवों को एसिड डालकर जलाया है। यही कारण है कि शव कंकाल में तब्दील हो गए।

घटनास्थल से पुलिस ने मोबाइल बरामद किया है। इसकी कॉल डिटेल निकाली जा रही है। ताकि लोकेशन पता लगाई जा सके।
घटनास्थल से पुलिस ने मोबाइल बरामद किया है। इसकी कॉल डिटेल निकाली जा रही है। ताकि लोकेशन पता लगाई जा सके।

गांव से 800 से मीटर दूर मिले शव
गांव के लोगों के मुताबिक, दोनों (लड़के-लड़की) को लापता हुए एक हफ्ते से ज्यादा हो गए थे। दोनों के परिवार के लोगों ने कई जगह ढूंढने की बात भी कही थी। लेकिन कहीं नहीं मिले। किसी को क्या पता था कि गांव से महज 800 मीटर की दूरी पर ही इनके कंकाल पड़े मिलेंगे।

कॉल डिटेल्स से हत्यारों तक पहुंचने की कोशिश
सीओ आशुतोष कुमार ने बताया कि कंकाल के पास दोनों के मोबाइल, चप्पल व कपड़े मिले हैं। मोबाइल की कॉल डिटेल व लापता होने के बाद की लोकेशन निकलवाई जा रही है। फिलहाल, मामले के जल्द खुलासे के लिए टीम बना दी गई है। सभी एंगल पर जांच की जा रही है। जिन पर शक है उनसे भी पूछताछ की जा रही है।

कंकाल हो चुके शव से कुछ दूर चप्पलें पड़ी मिली हैं। कपड़े भी मिले हैं। इन्हीं से परिजनों ने दोनों की पहचान की।
कंकाल हो चुके शव से कुछ दूर चप्पलें पड़ी मिली हैं। कपड़े भी मिले हैं। इन्हीं से परिजनों ने दोनों की पहचान की।

लापता होने के बाद दोनों के परिजनों ने दी थी तहरीर
12 अक्टूबर को लड़का और लड़की लापता हो गए थे। इसके बाद दोनों के परिजनों ने थाने में तहरीर दी थी। बालकिशन के पिता चेतराम ने 13 अक्टूबर को बेटे को मारपीट कर अगवा कर ले जाने व हत्या करने की आशंका जताई थी। जबकि लड़की के पिता ने आरोप लगाया था कि बालकिशन उनकी बेटी को साथ ले गया है। आरोप यह भी है कि दोनों की ही तहरीर पर पुलिस ने गंभीरता नहीं दिखाई।