UP में चुनाव से पहले एकजुट हो रहे छोटे दल:उन्नाव में शिवपाल और राजा भैया की हुई मुलाकात, एक दिन पहले प्रसपा अध्यक्ष से ओवैसी, ओपी राजभर और चंद्रशेखर ने की थी मुलाकात

उन्नाव2 महीने पहले
राजा भैया और शिवपाल यादव की मुलाकात उन्नाव में हुई।

विधानसभा चुनावों से पहले जहां बड़े दल अपनी तैयारियों में जुटे हुए हैं, वहीं छोटे दल भी अपनी एकजुटता बनाने में जुट गए हैं। इसी कड़ी में आज राजा भैया और शिवपाल यादव की मुलाकात उन्नाव में हुई। हालांकि, उन्होंने यह खुलासा नहीं किया कि आखिर बातचीत में तय क्या हुआ या आगे की क्या रणनीति बनी है? बताते चलें कि एक दिन पहले ओवैसी, राजभर और चंद्रशेखर ने भी शिवपाल यादव से उनके लखनऊ आवास पर बातचीत की थी।

शिवपाल और राजा भैया ने मिलाया हाथ
उन्नाव में आज मुख्यमंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ जनसभा कर करोड़ों की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे। जिसको लेकर तैयारियां पूरी हैं। उससे पहले जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया लखनऊ से झांसी तक जा रहे थे। उन्नाव में उनका जगह-जगह स्वागत हुआ। उन्नाव पहुंचे राजा भैया जनसेवा संकल्प यात्रा को लेकर नीतियों का बखान कर रहे थे।

इसी दौरान प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव कानपुर जाते वक्त उन्नाव में रुके। कार से उतरने के बाद राजा भैया से गले गले मिले और हाथ मिलाया। कुछ देर की बातचीत के बाद शिवपाल सिंह कार में बैठकर कानपुर की ओर रवाना हो गए।

कार से उतरने के बाद शिवपाल यादव राजा भैया से गले मिले और हाथ मिलाया।
कार से उतरने के बाद शिवपाल यादव राजा भैया से गले मिले और हाथ मिलाया।

गठबंधन को नकार गए दोनों नेता
शिवपाल सिंह यादव और राजा भैया की हुई मुलाकात उन्नाव में चर्चा का विषय बन गई है। दोनों पार्टियों के साथ ही अन्य पार्टियों में भी हलचल तेज हो गई है। वहीं दोनों लोगों ने गठबंधन जैसे कोई बात स्वीकार नहीं की है। राजा भैया ने कहा कि शिवपाल यादव से 1996 से हमारे पारिवारिक रिश्ते हैं। यहां बस औपचारिक मुलाकात हुई है। गठबंधन जब होगा तो सबको बताया जाएगा। वहीं शिवपाल यादव ने भी किसी भी तरह के गठबंधन से इनकार किया है।

आधा घंटा पहले निकले थे अखिलेश यादव
वहीं, कानपुर लखनऊ नेशनल हाईवे से दोनों नेताओं के मिलने से ठीक आधे घंटे पहले पूर्व सीएम सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव कानपुर के लिए रवाना हुए थे। उम्मीद थी कि वह उन्नाव में रुकेंगे, लेकिन वे बिना रुके सीधे कानपुर निकल गए। बुधवार को अखिलेश यादव ने भी कन्नौज में कहा था कि सभी छोटे और क्षेत्रीय दलों से बात हो रही है।

खबरें और भी हैं...