पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उन्नाव…पंचायत सहायक के चयन में घोटाला:कम अंक को दिखा दिया ज्यादा, जांच में सच आया सामने, सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज

उन्नाव11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीडीओ ने दिए जांच के आदेश। - Dainik Bhaskar
सीडीओ ने दिए जांच के आदेश।

उन्नाव की असोहा ग्राम पंचायत मंझरिया में पंचायत सहायक (डाटा इंट्री आपरेटर) के चयन में घोटाला किया गया है। ग्राम पंचायत की प्रशासनिक समिति ने कम नंबर वाले अभ्यर्थी का चयन कर लिया है और ज्यादा मेरिट वाले को चयन लिस्ट से बाहर कर दिया है। सीडीओ ने जांच में पुष्टि होने के बाद प्रधान, सचिव समेत प्रशासनिक समिति के सभी आठ सदस्यों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के आदेश दिए हैं। थाना असोहा में फर्जीवाड़े की रिपोर्ट दर्ज की गई है।

नौकरी देने के लिए दिखाए ज्यादा अंक

जनपद में शासन द्वारा पंचायत सहायक की भर्ती के लिए जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार हाईस्कूल और इंटर के नंबरों की मेरिट के आधार पर चयन होना था। असोहा की मंझरिया ग्राम पंचायत में गाइडलाइन को दरकिनार कर चयन किया गया है। पंचायत में सचिव छत्रपाल सिंह ने जो सूची दिखाई है उसमें पूजा पुत्री ठाकुर प्रसाद के प्राप्तांक का औसत 71.4 प्रतिशत दिखाया गया। इसी आधार पर पूजा को प्रथम स्थान पर दर्शाया गया था। वहीं प्रीती रावत का प्राप्तांक 71 प्रतिशत दिखाकर उसे दूसरे स्थान पर दिखाया गया था। प्रीती का वास्तविक प्राप्तांक 72.15 प्रतिशत है। इसकी जानकारी पर सीडीओ दिव्यांशु पटेल ने परियोजना निदेशक के नेतृत्व में समिति गठित कर जांच कराई थी।

सभी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

जांच में पाया गया कि प्रशासनिक समिति मे शामिल प्रधान, सचिव और छह अन्य ग्राम पंचायत सदस्यों ने मनमानी करते हुए कम अंक वाली पूजा को पहले स्थान पर दिखाकर पंचायत सहायक के पद पर उसका चयन कराने का प्रयास किया। एडीओ ने तुरंत असोहा के एडीओ पंचायत मोहनलाल को सभी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के आदेश दिए। एडीओ पंचायत ने असोहा थाने में दी तहरीर में प्रधान अकील अहमद, सचिव छत्रपाल और पंचायत सदस्य रामसजीवन, जुनेद अली, रामेश्वर, हसीना, विटाना और सियाराम को नामजद किया है।

खबरें और भी हैं...