बीमारी से परेशान युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या:उन्नाव में मेला देखने के बहाने घर से निकला था, आम के पेड़ पर लटकता मिला शव

उन्नाव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बेटे की मौत की सूचना पर परिवार में दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। - Dainik Bhaskar
बेटे की मौत की सूचना पर परिवार में दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।

उन्नाव में एक युवक घर से दशहरा मेला देखने के बहाने बीते शाम निकल गया। देर रात तक वापस नहीं लौटा। परेशान परिजन आसपास पूरी रात तलाश करते रहे। लेकिन कोई पता नहीं चला। सुबह गांव से कुछ दूरी पर आम की बाग में फांसी के फंदे से युवक का शव लटकता मिला। ग्रामीणों ने देखा तो हड़कंप मच गया।

सूचना परिजनों को मिली तो उनका रो रो कर बुरा हाल है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारकर पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। सफीपुर कोतवाली क्षेत्र के देवगन निवासी संदीप रैदास (26) पुत्र बच्चू लाल के पिता ने बताया कि पिछले 2 साल से बीमारी से परेशान था और तनाव में रहता था। कल दशहरा पर्व पर घर से शाम को मेला देखने की बात कहकर निकला था और देर रात तक वापस नहीं आया तो खोजबीन शुरू की। लेकिन कोई पता नहीं चल सका। सुबह आम के बाग में फांसी के फंदे से शव लटकने की जानकारी ग्रामीणों से मिली।

घटना की जानकारी सफीपुर कोतवाली पुलिस को दी गई है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को आम के पेड़ से नीचे उतारा। पंचायत नामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। वहीं युवक की मौत पर परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। पुलिस आत्महत्या के अलावा अन्य पहलुओं से भी मामले की जांच कर रही है। पिता बच्चू लाल ने बताया कि उनका बेटा पांच भाइयों में यह तीसरे नंबर का था। बेटे की मौत की सूचना पर परिवार में दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।

खबरें और भी हैं...