• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Unnao
  • BJP Enlightened Class Conference In Unnao: UP Assembly Speaker Hriday Narayan Dixit Says Rakhi Sawant Would Have Been Older Than Mahatma Gandhi If One Became Older By Taking Off Clothes In Unnao

प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में विधानसभा स्पीकर की जुबान फिसली:दीक्षित ने उन्नाव में कहा- कपड़े उतारने से अगर कोई बड़ा बन जाता है तो राखी सावंत महात्मा गांधी से बड़ी होतीं

उन्नाव4 महीने पहले
यूपी के विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित। - फाइल फोटो

उन्नाव में भाजपा के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में उत्तर प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित की जुबान फिसल गई। उन्होंने बातचीत के दौरान महात्मा गांधी की तुलना राखी सावंत से कर दी। दीक्षित ने कहा कि मैंने 6 हजार किताबें पढ़ी हैं, जिनका विश्लेषण भी किया है।

उन्होंने महात्मा गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि वो कम कपड़े पहनते थे तो देश ने उन्हें बापू कहा, लेकिन ऐसा नहीं है कि कम कपड़े पहनने से कोई बौद्धिक हो जाता है। कम कपड़े पहनने या कपड़े उतारने से कोई बड़ा बनता तो आज राखी सावंत महात्मा गांधी से भी बड़ी होती। प्रबुद्ध वर्ग​​​ पुरातन से समाज का आराध्य रहा है, लेकिन आराध्य राजनीति और वोट बैंक के साधन नहीं है। समाज सदैव उनकी पूजा अर्चना अर्थात सम्मान करता रहा है।

महात्मा बुद्ध ने दिखाया सत्य और अहिंसा का मार्ग
उन्नाव रोड स्थित एक अतिथि गृह में भाजपा विधायक श्रीकांत कटियार ने शनिवार शाम भाजपा प्रबुद्ध सम्मेलन का आयोजन किया था। यहां विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे थे। संबोधन में उन्होंने कहा कि हमारा देश गौतम बुद्ध का सदियों से अनुयायी रहा है। महात्मा बुद्ध ने हमें सत्य और अहिंसा का मार्ग दिखाया है। उन्होंने कहा कि प्राचीन काल से हम राष्ट्रवादी हैं। हमारे आराध्य वोट बैंक के साधन नहीं है, बल्कि प्रबुद्ध वर्ग का सम्मान करना हम सब का कर्तव्य है।

राम को न मानने वाले अयोध्या जाकर राम-राम चिल्ला रहे
उन्होंने कहा कि राम को न मानने वाले भी अब सीधे अयोध्या जाकर राम-राम चिल्लाने लगे हैं। उनकी पार्टी भाजपा के नेताओं ने देश के मूलभूत सिद्धांतों को विश्व पटल पर रखा है। जिससे भारत देश विश्व गुरु बनने की ओर अग्रसर है।

सम्मेलन को जिला पंचायत अध्यक्ष शकुन सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष अवधेश कटियार, पूर्व मंत्री अनुपमा जायसवाल, पुनीत गुप्त, पुरुषोत्तम बाजपेई, ज्ञानेश द्विवेदी, किरण शंकर दीक्षित, मुन्नू सिंह, हनुमान दास, बाबूलाल, वीरेंद्र कुमार सिंह, डॉ. अवधेश सिंह, सरोज सिंह व संजय सिंह ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन महेश चंद्र दीक्षित ने किया।

खबरें और भी हैं...