• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Unnao
  • Purwa
  • MLAs Furious At Officials Who Came To Remove Illegal Construction The BJP MLA Returned The Officials Of The Public Works Department Who Came To Demolish The Illegal Construction

अवैध निर्माण को हटाने पहुंचे अधिकारियों पर भड़के विधायक:लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को फटकारा, बोले- सपा नेताओं की मिलीभगत से परेशान कर रहे हैं अधिकारी

पुरवा, उन्नाव14 दिन पहले
सीवर टैंक को हटाने के लिए पहुंचे थे लाेक निर्माण विभाग के अधिकारी।

उन्नाव के मौरावां में सड़क किनारे बनाए जा रहे सीवर टैंक को ढहाने पहुंचे लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को विधायक की नाराजगी का सामना करना पड़ा। विधायक ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। विधायक की नाराजगी और बढ़ते हंगामे को देखते हुए अतिक्रमण हटाने गई टीम को वापस लौटना पड़ा।

सीवर टैंक को गिराने पहुंचे लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से नोकझोंक करते विधायक अनिल सिंह।
सीवर टैंक को गिराने पहुंचे लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से नोकझोंक करते विधायक अनिल सिंह।

सीवर टैंक को गिराने पहुंचे अधिकारी
मामला उन्नाव के मौरावां कस्बे का है। यहां पर भगवती गुप्ता उर्फ बच्चन सेठ अपने घर के सामने सीवर टैंक बनवा रहे थे। शनिवार को इस निर्माण को ढहाने के लिए लोक निर्माण विभाग के अधिकारी पहुंच गए। जैसे ही टीम सीवर टैंक को ढहाने लगी तो भगवती गुप्ता ने क्षेत्रीय विधायक अनिल सिंह को इस मामले की जानकारी दी। इस मामले की जानकारी होते ही विधायक भी आनन-फानन में मौके पर पहुंच गए। इस दौरान विधायक अनिल सिंह ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को खूब खरी खोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि कस्बे में सीवर टैंक बने हैं, किसी का नहीं ढहाया गया, लेकिन इनका टैंक ढहाने पहुंच गए।

विधायक ने कहा, ''सपा नेताओं की मिलीभगत से बीजेपी कार्यकर्ताओं को परेशान किया जा रहा है।''
विधायक ने कहा, ''सपा नेताओं की मिलीभगत से बीजेपी कार्यकर्ताओं को परेशान किया जा रहा है।''

विधायक ने हंगामा करके अधिकारियों को भेजा
विधायक के हंगामे के कारण मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। विधायक अनिल सिंह जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। विधायक ने कहा कि रुपए न मिलने के कारण लोक निर्माण विभाग के अधिकारी निर्माण ढहाने पहुंचते हैं। जिसका रुपया इनको मिलता है उनकी बिल्डिंग खड़ी कराते हैं। तुरंत फर्जी आदेश बना देते हैं। यह भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता है। आज इसी के सेफ्टी टैंक को अधिकारी गिराने पहुंच गए। समाजवादी पार्टी के नेताओं के साथ मिलकर अधिकारी इस निर्माण ढहाना चाहते हैं।

भगवती गुप्ता के घर बाहर बन रहे सीवर टैंक को हटाने पहुंचे थे लोक निर्माण विभाग के अधिकारी।
भगवती गुप्ता के घर बाहर बन रहे सीवर टैंक को हटाने पहुंचे थे लोक निर्माण विभाग के अधिकारी।

सरकार की छवि खराब होने नहीं दी जाएगी
उन्होंने कहा, ''भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है। सरकार की छवि खराब नहीं होने दी जाएगी। मेरे रहते हुए किसी के साथ अन्याय नहीं होगा। अगर यह निर्माण गिरेगा तो सबका निर्माण गिराइए, यहां से वहां तक। गरीब का निर्माण नहीं गिरने दूंगा चाहे जो हो जाए। यहां से बसहा चौराहे पर पूरा कॉम्प्लेक्स बना है चकरोड की जमीन पर, नापजोख भी हो गई, लेकिन सरकारी अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं, सिर्फ कागजी कार्रवाई करते रहे।''

भगवती गुप्ता ने बताया, सपा नेताओं की मिलीभगत से अधिकारी परेशान कर रहे हैं"
भगवती गुप्ता ने बताया, सपा नेताओं की मिलीभगत से अधिकारी परेशान कर रहे हैं"

हॉस्पिटल सील है लेकिन अभी तक नहीं गिरा
विधायक ने कहा कि दूसरा एक हॉस्पिटल सील हो चुका है। उसको गिराने की नोटिस भी है, लेकिन उसको गिराने के लिए अधिकारी नहीं गए। क्योंकि वहां पर रुपया मिल चुका है। मुझे मारते और पीटते हुए भले ही थाने ले चलें, तभी यह निर्माण गिर सकता है। वरना मेरे रहते इसको गिरने नहीं दिया जाएगा।'' इस मामले में जब लोक निर्माण विभाग के अवर अभियंता से वार्ता करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया।।