लीची का स्वाद चखेंगे गल्फ कंट्री के लोग:वाराणसी एयरपोर्ट से 1.2 मीट्रिक टन सब्जियां और फलों की पहली खेप भेजी गई खाड़ी देश

वाराणसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी एयरपोर्ट से खाड़ी देशों के लिए सब्जियों और फल की खेप रवाना करते कमिश्नर दीपक अग्रवाल। - Dainik Bhaskar
वाराणसी एयरपोर्ट से खाड़ी देशों के लिए सब्जियों और फल की खेप रवाना करते कमिश्नर दीपक अग्रवाल।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से खाड़ी देशों के हाईपर मार्केट के लिए 1.2 मीट्रिक टन भिंडी, कुंदरु और लीची की पहली खेप गुरुवार को खाड़ी देशों के लिए रवाना की गई। लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने हरी झंडी दिखाकर सब्जियों और फल की खेप खाड़ी देशों के लिए रवाना की।

वाराणसी एयरपोर्ट पर किसानों और अफसरों से बात करते कमिश्नर दीपक अग्रवाल।
वाराणसी एयरपोर्ट पर किसानों और अफसरों से बात करते कमिश्नर दीपक अग्रवाल।

किसानों की आमदनी हो रही है दोगुनी

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि खाड़ी देशों को निर्यात हो रही सब्जियां और फलों से वाराणसी ही नहीं बल्कि पूर्वांचल भर के जिलों के किसानों की आमदनी दोगुनी करने की दिशा में यह पहल मील का पत्थर साबित हो रहा है। पूर्वांचल की सब्जियां और फल अब विदेशों के मॉल में बिकेंगे। इसके लिए एपीडा ने लूलू ग्रुप के साथ वाराणसी के एफपीओज को जोड़ा है। उन्होंने बताया कि बाबतपुर के पास नवनिर्मित पैक हाउस शीघ्र ही तैयार हो जाएगा, इससे किसानों को अपने उत्पादों को दूसरे देशों में भेजने के लिए आपेक्षित सहयोग मिलेगा। सामग्रियों के पैकेजिंग आदि में बेहतर सुविधा मिलेगी।

उत्पादों की गुणवत्ता सुनिश्चित करें

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने एयरपोर्ट पर मौजूद अधिकारियों और एफपीओज के लोगों को खाड़ी देशों और अन्य देशों में वहां की मांग के अनुरूप यहां से नियमित रूप से सब्जी एवं फलों को भेजने की व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। उन्होंने बताया कि सब्जियों एवं फलों की दूसरी खेप भी शीघ्र ही यहां से रवाना की जाएगी। कमिश्नर ने मौके पर मौजूद किसानों एवं एफपीओ का उत्साहवर्धन करते हुए उत्पादों की गुणवत्ता बरकरार रखने की बात कही। कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजारों के मानकों के अनुरूप उत्पादों की गुणवत्ता सुनिश्चित की जाए। इस दौरान एपीडा के सीबीसिंह के साथ किसान और एफपीओ मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...