पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शहर को डेंगू के कहर से मिली थोड़ी राहत:वाराणसी में डेंगू के 135 मरीजों का चल रहा है इलाज, जिले में अभी भी 1458 लोग हैं बुखार से पीड़ित; सामने आए 4 संदिग्ध मरीजों का होगा एलाइजा टेस्ट

वाराणसी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी स्थित मंडलीय अस्पताल में ओपीडी में दिखाने के लिए पर्ची कटाने के लिए कतारबद्ध मरीज। - Dainik Bhaskar
वाराणसी स्थित मंडलीय अस्पताल में ओपीडी में दिखाने के लिए पर्ची कटाने के लिए कतारबद्ध मरीज।

वाराणसी में कहर ढा चुके डेंगू बुखार के मामलों में 2 दिन से कोई बढ़ोतरी नहीं देख गई है। शहर के सभी निजी और सरकारी अस्पतालों में डेंगू के 135 मरीजों का इलाज चल रहा है। इसमें से 79 मरीज वाराणसी शहर के हैं, बाकी आसपास के जिलों और वाराणसी के ग्रामीण इलाकों के हैं। जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार 2 दिन से वाराणसी में डेंगू के 114 मरीज ही सक्रिय हैं। वहीं संदिग्ध मरीजों (बुखार और वायरल पीड़ित) की संख्या बढ़कर 1458 पर चली गई है। डेंगू के 4 संदिग्ध मरीजों की पुष्टि हुई है। NS-1 टेस्ट में इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अब इन संदिग्ध मरीजों की एलाइजा टेस्ट के लिए सैंपल BHU के माइक्रो बायोलॉजी लैब में भेजा गया है।

BHU में सबसे अधिक 30 और मंडलीय अस्पताल में डेंगू के 12 मरीज भर्ती हैं।
BHU में सबसे अधिक 30 और मंडलीय अस्पताल में डेंगू के 12 मरीज भर्ती हैं।

सबसे ज्यादा 30 मरीज BHU में एडमिट

डेंगू के के साथ ही मलेरिया के भी 106 मरीज अभी तक पाए गए हैं। शहर में डेंगू से सबसे ज्यादा 30 मरीज BHU के सर सुदंरलाल अस्पताल में भर्ती हैं। इसके बाद एपेक्स में 26, गैलेक्सी में 20 और सिटी हॉस्पिटल में 19 मरीजों का इलाज चल रहा है। वहीं कबीरचौरा स्थित शिव प्रसाद गुप्त मंडलीय अस्पताल में 12 मरीज डेंगू वार्ड में भर्ती हैं, जबकि यहां पर डेंगू के 20 बेड उपलब्ध हैं। BHU में पीडियाट्रिक्स और जनरल मेडिसीन को मिलाकर डेंगू के 60 बेड सुपर स्पेश्यालिटी केंद्र में बनाए गए हैं, जिसमें कुल 30 मरीजों का इलाज चल रहा है।

शहर के 975 इलाकों में कराया गया एंटी लार्वा का छिड़काव

वाराणसी के जिला मलेरिया अधिकारी एस सी पांडेय ने बताया कि बाढ़ग्रस्त और जलजमाव वाले इलाके में एंटी लार्वा दवाइयों का छिड़काव तेजी से कराया जा रहा है। काफी हद तक दूषित पानी के जलजमाव से शहर को राहत मिल गई है। आज शहर के डेंगू प्रभावित 10 मोहल्लों में एंटी लार्वा का छिड़काव किया गया। वहीं अब तक कुल 975 इलाकों को लार्वा से मुक्त करा लिया गया है। आज शहर के 5 और अब तक कुल 4805 घरों में पाइरेथ्रम इंडोर स्प्रे का छिड़काव किया जा चुका है। वहीं डेगू प्रभावित इलाकों के 40 घरों में लार्वा सर्च अभियान चलाया गया और राहत की बात है कि 1 भी घर में से लार्वा नहीं मिला। नगर निगम ने 51 शहरी इलाकों और 5 पंचायतों में कल रात एंटी लार्वा की फॉगिंग कराई थी।

खबरें और भी हैं...