पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • Sambhal DM Action On Embezzlement In Development Works: 14 Lakh Will Be Recovered From The Village Head And Secretary For Embezzlement Found In Development Works Including Toilet Construction

संभल में विकास कार्यों में गबन पर DM की कार्रवाई:चबूतरा के तत्कालीन ग्राम प्रधान और सचिवों से होगी 14 लाख की वसूली, 5 सचिवों की सैलरी इंक्रीमेंट पर रोक

संभल20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
विकास कार्यों समेत शौचालय निर्माण में अनियमितता मिलने पर संभल डीएम ने की कार्रवाई। (डीएम ऑफिस का फोटो) - Dainik Bhaskar
विकास कार्यों समेत शौचालय निर्माण में अनियमितता मिलने पर संभल डीएम ने की कार्रवाई। (डीएम ऑफिस का फोटो)

उत्तर प्रदेश के संभल में विकास कार्यों समेत शौचालय निर्माण में अनियमितता बरतते हुए सरकारी धनराशि के दुरुपयोग का मामला सामने आया है। मामले में डीएम ने तत्कालीन ग्राम प्रधान ग्राम पंचायत सचिव और तकनीकी सहायक से 14 लाख से अधिक की वसूली के आदेश दिए हैं। वहीं, पांच सचिवों की एक साल तक सैलरी इंक्रीमेंट पर रोक लगाई है।

मामला विकासखंड जुनावई की ग्राम पंचायत चबूतरा का है। यहां के बीतों दिनों कराए गए विकास कार्यों समेत शौचालय निर्माण में अनियमितता की शिकायत ग्रामीणों की ओर से की गई थी। जिला मजिस्ट्रेट संजीव रंजन ने बताया कि पूरे मामले में चीफ डेवलपमेंट ऑफिसर (CDO) की ओर से डिस्ट्रिक्ट पंचायत राज ऑफिसर (DPRO)को जांच सौंपी गई। DPRO की जांच आख्या में विकास कार्यों समेत शौचालय निर्माण व अन्य में अनियमितता करते हुए सरकारी धनराशि का दुरुपयोग करने का मामला सामने आया था। इस पर ग्राम प्रधान व पंचायत सचिव से जवाब-तलब किया गया था। जिसके बाद तत्कालीन प्रधान को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।

इसपर ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत सचिव ने सीडीओ कार्यालय में अपना पक्ष रखा। जिसके बाद CDO ने मौके पर सत्यापन निरीक्षण के लिए जांच कमेटी गठित की। जिसके बाद उपायुक्त श्रम रोजगार समेत DPRO, जूनियर इंजीनियर रूरल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट व डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर स्वच्छ भारत मिशन को जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। जांच कमेटी की आख्या में विकास कार्यों को लेकर शौचालय निर्माण, मनरेगा के मिट्टी कार्य व सीसी टाइल्स व अन्य में सरकारी धन के दुरुपयोग की बात सामने आई।

इनसे होगी वसूली
तत्कालीन ग्राम प्रधान चेतेंद्र कुमार समेत ग्राम पंचायत सचिव कुलवंत सिंह, उमेश कुमार, अरविंद कुमार, इंद्रेश कुमार, सेवानिवृत्त तत्कालीन सचिव रामप्रकाश समेत तकनीकी सहायक इंद्रेश चंद्र व वीरेंद्रपाल से 14 लाख 43 हजार 63 रुपए की वसूली किए जाने के आदेश दिए गए हैं। डीएम ने बताया कि इसके अलावा तत्कालीन ग्राम पंचायत सचिव कुलवंत सिंह, उमेश कुमार अरविंद कुमार व इंद्रेश कुमार की एक वार्षिक वेतन वृद्धि रोके जाने के आदेश दिए गए हैं।

यहां किया गबन

  • शौचालय निर्माण में 1 लाख 74 हजार 20 रुपए
  • सीसी टाइल्स कार्य में 5 लाख 28 हजार 21 रुपए
  • सीसी टाइल्स कार्य को 2 योजनाओं में दिखाने के मामले में 1 लाख 45 हजार 145 रुपए का गबन
  • इंटरलॉकिंग कार्य पर 2 लाख 41 हजार 304 रुपए धनराशि का गबन हुआ
  • मिट्टी के कार्य में 1 लाख 84 हजार 625रुपए
  • मनरेगा योजना में 4लाख 95 हजार 870 रुपए
  • ग्राम निधि कार्यों में 7 लाख 73 हजार 166 रुपए की वित्तीय अनियमितता
  • स्वच्छ भारत मिशन में 1 लाख 74 हजार 20 रुपए की वित्तीय अनियमितता
खबरें और भी हैं...