वाराणसी में 3 लोगों की जान गई:सड़क हादसे में 2 युवकों की मौत और 2 घायल; एक युवक ने फांसी लगाकर दी जान

वाराणसी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

वाराणसी के मिर्जामुराद और रामनगर क्षेत्र में शनिवार को सड़क हादसे में दो युवकों की मौत हो गई और दो युवक घायल हो गए। वहीं, फूलपुर क्षेत्र में एक युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी। सूचना पाकर स्थानीय थानों की पुलिस ने तीनों का शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। तीनों युवकों की मौत से उनके परिजनों में कोहराम मच गया।

आमने-सामने की टक्कर में जान गई

मिर्जामुराद क्षेत्र के कल्लीपुर गांव निवासी बबलू पाल (48) राजातालाब स्थित पशु चिकित्सालय में पशु मित्र के पद पर कार्यरत थे। रोजाना की तरह शनिवार को भी अपनी बाइक से वह क्षेत्र में पशुओं के इलाज के लिए मेहदीगंज स्थित अपने घर से निकले थे। रिंग रोड के ओवरब्रिज पर सामने से बाइक सवार मटुका गांव निवासी महेंद्र पटेल (42) अपने भांजे राजपुर गांव निवासी आदर्श पटेल (21) को बैठा कर हरहुआ से राजातालाब की तरफ आ रहे थे।

ओवरब्रिज पर ही दोनों बाइक में आमने-सामने की जबरदस्त टक्कर हुई। हादसे में तीनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। बबलू को अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई। मिर्जामुराद थाने की पुलिस की सूचना पर आए बबलू के परिजनों ने बताया कि वह चार भाइयों में दूसरे नंबर का था। बबलू के दो बेटे और एक बेटी है। वहीं, महेंद्र और उनके भांजे आदर्श को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ट्रक की चपेट में आने से राजगीर की मौत

रामनगर में नेशनल हाइवे पर ट्रक की चपेट में आने से राजगीर चकियवा जफरपुर निवासी सतीश यादव (26) की मौत हो गई। रामनगर पुलिस की सूचना पर आए परिजनों ने बताया कि सतीश अपने घर से बाइक से काम से रामनगर जा रहा था। परिजनों ने बताया कि सतीश यादव की दो बेटियां और एक बेटा है। सतीश की मौत की सूचना पाकर उनकी मां फूला देवी और पत्नी रिंकी का रो-रोकर बुरा हाल था।

सतीश के पिता सहगू यादव को परिजनों ने बड़ी ही मुश्किल से संभाला। सतीश चार भाई और एक बहन में सबसे बड़े थे। वहीं, हादसे के बाद वाराणसी की ओर ट्रक लेकर भाग रहे चालक की पुलिस ने डाफी टोल प्लाजा के पास घेरेबंदी की। पुलिस को देखकर ड्राइवर और खलासी ट्रक छोड़कर भाग निकले।

तीन बहनों के इकलौते भाई ने फांसी लगाई

फूलपुर थाना अंतर्गत गजोखर गांव में पंपिंग सेट पर बने कमरे में युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी। परिजनों के अनुसार, गजोखर निवासी हौसिला यादव का इकलौता बेटा पवन यादव (24) घर में खाना खाने के बाद कुछ दूरी पर स्थित गांव के ही संजय यादव के पंपिंग सेट पर गया था। वहां बने कमरे में केबल का फंदा बना कर उसने आत्महत्या कर ली। युवक की आत्महत्या की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी। संजय की 3 बहनें हैं और तीनों की शादी हो चुकी है। उसके पिता मुंबई में साड़ी का कारोबार करते हैं।

खबरें और भी हैं...