मार्तंड शाह मर्डर केस में सभी आरोपी गिरफ्तार:1 माह से फरार हत्या के 3 आरोपी प्रयागराज जा रहे थे वकील से सलाह लेने ;वाराणसी पुलिस ने लहरतारा ब्रिज से ही किया गिरफ्तार

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मार्तंड शाह मर्डर केस में 1 माह से फरार हत्या के 3 आरोपियों को वाराणसी पुलिस ने लहरतारा ब्रिज से किया गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
मार्तंड शाह मर्डर केस में 1 माह से फरार हत्या के 3 आरोपियों को वाराणसी पुलिस ने लहरतारा ब्रिज से किया गिरफ्तार।

एनटीपीसी के रिटायर्ड अफसर मार्तंड शाह मर्डर केस के 3 बचे आरोपियों को लहरतारा के ओवर ब्रिज से गिरफ्तार कर लिया गया है। ये वांछित अपराधी 1 माह से फरार चल रहे थे। कल रात ये वाराणसी जेल में बंद अन्य साथियों की रिहाई के लिए प्रयागराज जा रहे थे। उसी समय कैंट पुलिस ने एक मुखबिर की मदद से इन्हें रास्ते में ही दबोच लिया। पकड़े जाने वाले तीनों आरोपी में 1 गाजीपुर से राजेश कुमार चौहान और गोरखपुर के 2 सुबोध कुमार द्विवेदी और रमेश यादव शामिल हैं। कैंट थाना के प्रभारी निरीक्षक वेद प्रकाश राय के मुताबिक इन्हे गिरफ्तार कर विधिक कार्रवाई की जा रही है।

हत्या करके शव फेका कानपुर में

इस हत्या के अन्य 5 आरोपियाें को पहले ही वाराणसी पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया जा चुका है। इन लोगों पर आरोप है कि पैतृक मकान और संपत्तियों पर कब्जा करने को लेकर मार्तंड शाह की एक कार में हत्या करके शव कानपुर में फेंक दिया था।

8 संदिग्धों की तलाश में थी पुलिस

16 अगस्त को मार्तंड शाही की हत्या के बाद उनके बेटे अमित शाही की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस सभी 8 संदिग्धों की खोज कर रही थी। घटना के सप्ताह भर बाद ही कत्ल के 5 आरोपी पकड़ लिए गए थे। इसमें गाजीपुर की कंचन चौहान और पति राजेश चौहान, वहीं गोरखपुर का बृजेश यादव, जौनपुर का दिनेश सिंह और वाराणसी के निगमेंद्र सिंह को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

हत्याकर जेब में रखी नींद की गोली, बस का टिकट और साेसाईड नोट

कैंट पुलिस ने बताया कि इन आरोपियाें ने पूछताछ में कबूला है कि उन्होंने इस मारपीट को आत्महत्या की शक्ल देने की कोशिश की थी। कहा कि मारने के बाद मार्तंड की जेब में नींद की गोलियां, बस का टिकट और सोसाईड नोट भी रख दिया गया था। जिससे यह पूरी तरह से आत्म हत्या की लगे। वहीं मार्तंड शाही को अपने वशीभूत करके उनकी जमीन, मकान का दानपत्र व वसीयतनामा करवाकर योजनाबद्ध तरीके से मारा था।

कैंट थाना के प्रभारी निरीक्षक वेद प्रकाश ने बताया कि पुलिस अब इन सभी पर हत्या के चार्ज में विधिक कार्यवाही को आगे बढ़ा रही है। कैंट थाना के 14 पुलिस वालों की टीम बनाकर इसे पूरे केस के आरोपियों को जाल बिछाकर पकड़ा गया है।

खबरें और भी हैं...