लूट के लिए तैयार न होने पर मारी थी गोली:वाराणसी में युवक की हत्या के 3 आरोपी गिरफ्तार, 2 पिस्टल और 5 कारतूस बरामद

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी में युवक की हत्या के आरोप में उसके 3 दोस्त गिरफ्तार किए गए। - Dainik Bhaskar
वाराणसी में युवक की हत्या के आरोप में उसके 3 दोस्त गिरफ्तार किए गए।

वाराणसी की पिशाचमोचन कॉलोनी निवासी चंदन श्रीवास्तव उर्फ अमन के लूट के लिए तैयार न होने पर उसके दोस्त ने गोली मारी थी। यह खुलासा शनिवार को सिगरा थाने की पुलिस ने चंदन के तीन दोस्तों को गिरफ्तार करने के बाद किया। तीनों आरोपियों के पास से .32 बोर की 2 पिस्टल, 5 कारतूस और 3 मैगजीन बरामद की गई है। गिरफ्त में आए आरोपियों की शिनाख्त सेनपुरा निवासी सचिन जायसवाल, गिरिनगर एक्सेंटशन महमूरगंज के देवेश खेलवानी और नई पोखरी पिशाचमोचन लल्लापुरा के सतीश पाल उर्फ सत्यपाल के तौर पर हुई है। वारदात में वांछित नई पोखरी पिशाचमोचन निवासी अमित सोनकर उर्फ जीतू की तलाश जारी है।

दिवाली की रात मारी गई थी गोली

पिशाचमोचन कॉलोनी निवासी चंदन श्रीवास्तव को उसके 4 दोस्तों ने दिवाली की रात उसके घर से बुलाया। सभी ने साथ बैठ कर जम कर शराब पी और फिर कामायनी नगर कॉलोनी स्थित छेदीलाल पार्क में पांचों लूट की घटना को अंजाम देने के लिए बातचीत करने लगे। इसी बीच अवैध पिस्टल से निकली गोली चंदन के गर्दन को आर-पार कर गई और घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। चंदन के पिता गोपाल श्रीवास्तव की तहरीर के आधार पर सचिन जायसवाल, देवेश खेलवानी, सतीश पाल उर्फ सत्यपाल और अमित सोनकर उर्फ जीतू के खिलाफ सिगरा थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया।

घर से बुलाकर ले गए थे 4 दोस्त

डीसीपी वरुणा जोन विक्रांत वीर ने बताया कि आरोपियों की धरपकड़ के लिए सिगरा इंस्पेक्टर अनूप कुमार शुक्ला के नेतृत्व में सिगरा थाने की क्राइम टीम के प्रभारी प्रकाश सिंह और लल्लापुरा चौकी प्रभारी विजय प्रकाश यादव की टीम गठित की गई थी। प्रकाश सिंह और विजय प्रकाश यादव ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया। पूछताछ में सचिन ने बताया कि बीती 4 नवंबर की रात देवेश, सतीश और अमित के साथ वह चंदन के घर गया। उसने चंदन से कहा कि चलो आज दिवाली है। कोई बड़ी लूट कर बड़ा इंतजाम करना है। इसके बाद सभी कामायनी नगर कालोनी स्थित छेदीलाल पार्क में गए। बातचीत के दौरान चंदन लूट की घटना को अंजाम देने में साथ देने से मना कर दिया। इसके साथ ही वह लूट की बात का विरोध भी करने लगा।

डराने के लिए पहले हवाई फायरिंग की थी

सचिन ने बताया कि चंदन कह रहा था कि आज दिवाली है और कोई गलत काम नहीं करना है कि जेल जाना पड़े। सचिन ने बताया कि इस बात को लेकर चंदन से उसकी कहासुनी होने लगी। कहासुनी के दौरान चंदन गाली देने लगा। इस पर वह चंदन को डराने के लिए 2 राउंड हवाई फायरिंग किया। इसके बाद भी चंदन लूट की घटना में साथ देने के लिए तैयार नहीं हुआ तो गुस्से में उसके गर्दन में गोली मार दिया। उधर, इंस्पेक्टर सिगरा ने बताया कि जल्द ही वांछित अमित सोनकर भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...