परिवहन आयुक्त कार्यालय में चपरासी ने फांसी लगाई:वाराणसी में सरकारी विभाग के पंखे से लटककर 45 साल कर्मचारी ने दे दी जान

वाराणसी3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
परिवहन आयुक्त कार्यालय में तैनात एक चपरासी हूबलाल सोनकर (45) ने फांसी लगाकर खुदकशी कर ली। - Dainik Bhaskar
परिवहन आयुक्त कार्यालय में तैनात एक चपरासी हूबलाल सोनकर (45) ने फांसी लगाकर खुदकशी कर ली।

वाराणसी में पहड़िया स्थित परिवहन आयुक्त कार्यालय में तैनात एक चपरासी हूबलाल सोनकर (45) ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। आज दिन में जब दूसरा कर्मचारी ऑफिस पहुंचा तो अंदर उसने लाश देख पुलिस को सूचित किया। कर्मचारी कनिष्क सहायक राम सजीवन ने बताया कि ऐसा लग रहा है कि बीती रात ड्यूटी के दौरान ही उसने आफिस के कोर्टयार्ड में लगे पंखे पर लटककर जान दे दी थी। राम सजीवन ने ये बातें पुलिस को लिखित में बताई। उसने बताया कि जब वह ऑफिस पहुंचा तो गेट अंदर से बंद था। काफी देर तक आवाज लगाने के बावजूद कोई कोई नहीं निकला तो वह बाउंड्री फांदकर अंदर गया। उसने देखा कि नाइट ड्यूटी वाले चपरासी ने ऑफिस के आंगन में लगे पंखे से रस्सी के सहारे फंदा लगाकर लटका हुआ था।

नहीं पता चल सका मौत का कारण
मृतक हूबलाल सोनकर अर्दली बाजार स्थित उल्फत बीबी का हाता एरिया में रहता था। यह क्षेत्र थाना कैंट में आता है। उसने देर रात खुद की जान क्यों ली, इसके बारे में कुछ भी पता नहीं चल पाया है। बहरहाल, स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंचकर शव की जांच की और फरेंसिक टीम को बुलाकर सभी विधिक कार्यवाही करते हुए शव को फंदे से उतारा। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए लिए भेजा। मृतक कर्मचारी के परिवार में बारे में पता चला कि उसकी पत्नी सहित तीन बेटे और एक बेटी हैं। सबसे बड़ा बेटा विशाल सोनकर 20 साल का है। घटना की जानकारी जब परिवार को हुई तो उन सबका रो-रोकर बुरा हाल था।

खबरें और भी हैं...