पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

UP में काशी को तीसरा स्थान:मातृ वंदना योजना में 1 सप्ताह में वाराणसी की 637 गर्भवती महिलाओं ने कराया रजिस्ट्रेशन, उठाई पहली किश्त; अभी तक 70214 महिलाएं ले चुकी हैं लाभ

वाराणसी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
1 सप्ताह में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में 
रजिस्ट्रेशन कराने के मामले में वाराणसी प्रदेश में तीसरे स्थान पर रहा। - Dainik Bhaskar
1 सप्ताह में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में रजिस्ट्रेशन कराने के मामले में वाराणसी प्रदेश में तीसरे स्थान पर रहा।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना सप्ताह में 637 गर्भवती महिलाओं को वित्तीय लाभ देकर वाराणसी प्रदेश कर तीसरा सबसे बेहतर जिला बन गया है। तीन किश्तों में गर्भवती महिलाओं को 5000 रुपये दिए जाने हैं। जिसमें पहली किश्त जारी हो गया है। गर्भवती होने वाली महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य देखभाल और पोषण के लिए चलाई गई प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाई) योजना के तहत यह कार्य किया गया है। इस योजना का लाभ देने के लिए प्रदेश भर में 1 से 7 सितंबर तक मातृ वंदना सप्ताह मनाया गया।

डॉ. वीबी सिंह, सीएमओ
डॉ. वीबी सिंह, सीएमओ

7998799804 पर कॉल कर लें जानकारी

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. वीबी सिंह ने कहा कि सप्ताह के दौरान सभी पात्र गर्भवती और धात्री महिलाओं को लाभ पहुंचाने का कार्य किया गया। कोविड टीकाकरण के प्रति गर्भवती महिलाओं को उचित आराम व पोषण की जरूरत बताई गई। उन्होंने बताया कि नियमित प्रसव पूर्व देखभाल के साथ ही एक हृष्ट-पुष्ट शिशु के लिए गर्भवती के पोषण का खास ख्याल रखा जाएगा। एसीएमओ एवं नोडल अधिकारी डॉ. एके मौर्य ने बताया कि 1 से 7 सितंबर तक शहरी क्षेत्रों की 637 महिलाओं को लाभ पहुंचाया गया। जनवरी, 2017 से शुरू हुई इस योजना से वाराणसी में अब तक 70214 महिलाएं लाभान्वित हैं। योजना से जुड़ी जानकारी हेल्पलाइन 7998799804 पर कॉल करके ली जा सकती है।

इस तरह से 3 किश्तों में मिलते हैं पैसे

पीएमएमवीवाई के अंतर्गत पहली बार गर्भवती होने पर पात्र लाभार्थी को तीन किश्तों में 5000 रूपये दिये जाते हैं। इसके तहत पंजीकरण के लिए गर्भवती और उसके पति का कोई पहचान पत्र या आधार कार्ड, मातृ-शिशु सुरक्षा कार्ड, बैंक पासबुक की फोटो कापी आदि मांगी जाती है। रजिस्ट्रेशन के साथ ही गर्भवती को प्रथम किश्त के रूप में 1000, छह माह बाद दूसरी किश्त 2000 रुपये और बच्चे के जन्म का रजिस्ट्रेशन होने और पहले चक्र का टीकाकरण पूरा होते ही महिला को तीसरी किश्त 2000 रुपए की दी जाती है।

खबरें और भी हैं...