बिजली विभाग की लापरवाही से जान गई:वाराणसी में एक वृद्धा और दो मवेशियों की करंट की चपेट में आने से मौत

वाराणसी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विलाप करते परिजन व ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
विलाप करते परिजन व ग्रामीण।

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में बिजली विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों की लापरवाही के कारण शनिवार को करंट की चपेट में आने से एक वृद्धा और 2 मवेशियों की जान चली गई। दोनों घटनाओं से ग्रामीण इलाकों के लोग बिजली विभाग की कार्यशैली को लेकर खासे गुस्से में दिखे। वहीं, घटना की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और वृद्धा का शव पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया।

कपसेठी थाना के भरहरिया गांव के शोभनाथ पटेल की पत्नी गुलाबी देवी (65) अपने खेत की ओर जा रही थी। इसी दौरान वह एक खेत में लगे विद्युत पोल के स्टे वायर में प्रवाहित हो रहे करेंट की चपेट में आ गई और मौके पर ही उनकी मौत हो गई। समीप के ही खेत में काम कर रहे एक किसान की नजर पड़ी तो वह शोर मचाकर घटना की सूचना उनके परिजनों को दिया। वृद्धा तीन बेटों और तीन बेटियों की मां थी। उनके पति खेती करते हैं। उधर, सियरहां गांव में अचानक हाइटेंशन तार गिर जाने से उसकी चपेट में आकर एक गाय और एक कुत्ते की मौत हो गई। गांव के मंगल सिंह ने इसकी सूचना बिजली विभाग के कर्मचारियों को देकर विद्युत आपूर्ति बंद कराई।

बिजली विभाग को कई बार दी थी सूचना, नहीं सुनते कर्मचारी

भरहरिया गांव के ग्रामीणों ने वृद्धा की मौत के बाद कहा कि बिजली विभाग को कई बार सूचना देने के बावजूद भी स्टे वायर ठीक नहीं किया गया। नतीजतन गांव की बुजुर्ग महिला की जान चली गई। इस घटना में सिर्फ और सिर्फ विद्युत विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों की लापरवाही है। उधर, क्षेत्रीय अवर अभियंता राजकुमार ने कहा कि वृद्धा के परिजनों को सरकारी नियमानुसार मुआवजा दिलाया जाएगा। इस तरह की जो भी खामियां हैं उन्हें जल्द ही ठीक कर लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...