काशी में राज्यपाल... क्रूज से देखीं दिवाली की गंगा आरती:परिवार संग आनंदी बेन ने किया काशी विश्वनाथ व संकट मोचन का दर्शन

वाराणसी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
काशी विश्वनाथ मंदिर में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल परिवार के संग कीं विधिवत पूजा करती हुईं। - Dainik Bhaskar
काशी विश्वनाथ मंदिर में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल परिवार के संग कीं विधिवत पूजा करती हुईं।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल दिवाली के दिन गुरुवार को वाराणसी आई। काशी विश्वनाथ, काल भैरव और संकटमोचन में दर्शन-पूजन किया। उन्होंने अलकनंदा क्रूज से गंगा विहार किया। इस दौरान दिवाली पर दमक रही काशी के 84 घाटों की आभा को राज्यपाल ने देखा। वह गंगा आरती में भी शामिल हुईं। इसके बाद देर रात वह राजकीय विमान से लखनऊ के लिए रवाना हो गईं।

वाराणसी में संकट मोचन मंदिर के महंत प्रो. विशंभर मिश्र ने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को दिया प्रसाद।
वाराणसी में संकट मोचन मंदिर के महंत प्रो. विशंभर मिश्र ने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को दिया प्रसाद।

400 साल पुराने बरगद के पेड़ की विरासत को भी समझा

राजकीय विमान से राज्यपाल बृहस्पतिवार दोपहर लगभग एक बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पर पहुंचीं। सर्किट हाउस में कुछ देर आराम करने के बाद लगभग शाम चार बजे काल भैरव मंदिर पहुंची। यहां दर्शन पूजन किया। इसके बाद श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर में मत्था टेका। यहां से वह संकटमोचन मंदिर पहुंची। जहां पर उनका स्वागत मंदिर के महंत प्रो. विशंभर मिश्र ने पुष्पगुच्छ देकर किया। मंदिर परिसर में स्थित 400 साल पुराने बरगद के पेड़ की विरासत के बारे में उन्होंने जानकारी ली। यहां आरती के बाद मंदिर की परिक्रमा की। फिर राम दरबार में आईं।

संत रविदास घाट पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल।
संत रविदास घाट पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल।

गर्भ गृह में परिवार संग राज्यपाल ने उतारी बाबा की आरती
श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में राज्यपाल ने बाबा के स्वर्ण शिखर को नमन करके गर्भगृह में पहुंची। यहां अर्चक श्रीकांत मिश्र ने षोड़षोपचार पूजन की शुरूआत की। बाबा की आरती के बाहर निकलीं। वहां पर लगाए गए मैप से विश्वनाथ धाम कॉरिडोर निर्माण की प्रोग्रेस रिपोर्ट भी लीं। इस दौरान उन्हें मंदिर प्रशासन की ओर से अंग वस्त्र व प्रसाद भेट किया गया। फिर राज्यपाल कार से संत रविदासघाट पहुंचीं। इसके बाद यहां से रिजर्व क्रूज से दशाश्वमेध घाट गई। गंगा आरती देखने के बाद दोबारा रविदास घाट के लिए रवाना हुईं। यहां से कार से बाबतपुर एयरपोर्ट के लिए रवाना हुई। रात साढ़े नौ बजे के करीब लखनऊ के लिए उनके विमान ने उड़ान भरी।

खबरें और भी हैं...