पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बारिश ने बरपाया दो शहरों में कहर:मिर्जापुर में सड़क में धंस गया ऑटो, सोनभद्र में बह गया पुल; दो शहरों की दिखी ऐसी तस्वीर

2 महीने पहले
मिर्जापुर सड़क में ऑटो धंस गया तो सोनभद्र में अस्थायी पुल नदी में बह गया।

उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर हो रही भारी बारिश के चलते जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। ताजा मामला मिर्जापुर और सोनभद्र से है। जहां सोनभद्र में लौवा नदी पर बना अस्थायी पुल बारिश के चलते टूटकर बह गया है। वहीं मिर्जापुर में सड़क धंसने के कारण रास्ते से जा रहा ऑटो उसमे समा गया। हालांकि, वक्त रहते चालक ऑटो से बाहर आ गया जिससे उसकी जान बच गई।

मिर्जापुर: जमीन में समा गया रास्ते से गुजर रहा ऑटो

मामला मिर्जापुर के लालडिग्गी इमामबाड़ा राजमार्ग का है। जहां कल दिन भर बारिश हुई है। जिसके चलते शाम को सड़क धंसने से गड्ढा हो गया। जिस वक्त सड़क धसी उस वक्त एक ऑटो वहां से गुजर रहा था। जो देखते ही देखते उस गढ्ढे में 10 फीट नीचे चला गया। जानकारी के मुताबिक पिछले महीने सड़क पर बन रहे गड्ढों को भरने के लिए नगर पालिका ने 27 लाख रुपए खर्च कर काम करवाया है। इसके बावजूद भी कोई सुधार नहीं हुआ और सड़क धंस गई। रिहायशी इलाका होने के चलते विभाग की लापरवाही से मकानों पर भी खतरा मंडरा रहा है। क्योंकि वहां स्थित मकानों की नींव कमजोर है।

एक महीने से ज्यादा बधित रहा आवागमन

बीते महीने सड़क पर नगर पालिक ने मिट्टी खुदवाकर सड़क दुरुस्त करवाई है। जिसके चलते एक महीने से ऊपर हो गया आवागमन में दिक्कतें आ रही है। हालांकि, इलाके के सभासद ने सड़क के नाले को ठीक करवाने के लिए नमामी गंगे प्रोजेक्ट के तहत दो करोड़ पंद्रह लाख की धनराशी ली है लेकिन उस पैसे से क्या काम हुआ ? इसकी कोई जानकारी नहीं है। पालिकाध्यक्ष मनोज जायसवाल ने बताया कि उन्होंने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या को शुक्रवार को पत्र लिखा गया है । पत्र में जनहित को देखते हुए तत्काल कार्रवाई की मांग की गई है ।

सोनभद्र में सुबह पांच बजे के आसपास लौवा नदी के ऊपर बना अस्थायी पुल टूटकर बह गया।
सोनभद्र में सुबह पांच बजे के आसपास लौवा नदी के ऊपर बना अस्थायी पुल टूटकर बह गया।

सोनभद्र: उफनाई नदी में बह गया अस्थायी पुल

मामला रीवा-रांची राष्ट्रीय राजमार्ग दुद्धी के पास का है। यहां पिछले तीन दिनों से लगातार बारिश हो रही है। जिससे सुबह पांच बजे के आसपास लौवा नदी के ऊपर बना अस्थायी पुल टूटकर बह गया। इस नदी के ऊपर अगस्त 2020 में सवा करोड़ की लागत से पक्के पुल का निर्माण शुरु हुआ है। साइड में अस्थाई पुल बनाकर आवागमन का रास्ता बनाया गया था। जिसके चलते आवागमन की समस्या कुछ कम हो गई थी।

पुल टूटने से लगा भारी जाम

पुल टूटने से रीवा रांची मार्ग पर जाम की स्थिति पैदा हो गई है। लोगों को आवागमन के लिए मुर्धवा रेणुकूट होकर जाना पड़ेगा। इससे उन्हें 40 किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी तय करनी होगी। जिसके चलते रेणुकूट छत्तीसगढ़ मार्ग पर रोज लगने वाले जाम की स्थिति और खराब होगी। एसडीएम दुद्धी रमेश कुमार ने बताया कि इंजीनियरों की टीम निरीक्षण कर रिपोर्ट देगी। उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...