पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • Chadauli Handpump India Marka2 Latest Update । Blue Water Like Kerosene Oil Coming Out From Hand Pump In Jamsoti Village Of Chandauli Uttar Pradesh

नक्सल प्रभावित गांव में पानी का रंग बदला:चंदौली के जमसोती गांव में हैंडपंप से निकल रहा केरोसिन ऑयल जैसा नीला पानी, जमीन के नीचे खनिज की संभावना

चंदौली25 दिन पहले
जमसोती गांव में हैंडपंप से निकला नीले रंग का पानी।

चंदौली जिले के नक्सल प्रभावित इलाके नौगढ़ तहसील के जमसोती गांव में हैंडपंप से केरोसिन तेल की तरह नीले रंग का पानी निकलने का मामला सामने आया है। इसे देखने के लिए आसपास के लोग जमसोती गांव पहुंच रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि जमीन के अंदर खनिज तेल होने की संभावना है। जिला प्रशासन ने हैंडपंप के पानी का सैंपल लिया है। वहीं, जल निगम ने हैंडपंप खुलवा दिया है।

मई-जून माह में जलस्तर काफी नीचे जाता है

नक्सल प्रभावित नौगढ़ तहसील पहाड़ी पर स्थित है। यहां मई-जून माह में जलस्तर काफी नीचे चला जाता है। जमसोती गांव जंगल के बीच में स्थित है। गांव में लगभग सौ की संख्या में ग्रामीण रहते हैं और लेकिन पेयजल के नाम पर एक सरकारी हैंडपंप है। 28 मई की सुबह गांव में लगे सरकारी हैंडपंप से ग्रामीणों द्वारा जब पानी भरा जाने लगा तो सफेद पानी की जगह नीले रंग का पानी आ रहा था। ग्रामीणों ने हैंडपंप से सैकड़ों बाल्टी पानी निकाला। लेकिन पानी का रंग जस का तस नीला ही रहा। ग्रामीणों ने हैंडपंप से पानी लेना बंद कर दिया और मामले की सूचना नजदीकी पुलिस चौकी को दी।

लेखपाल ने मुख्यालय भिजवाया सैंपल

चंद्रप्रभा चौकी इंचार्ज मौके पर पहुंचे और एक्सपर्ट ने पानी का सैंपल लिया। लेखपाल ने पानी का सैंपल जिला मुख्यालय भेज दिया है। जल निगम ने हैंडपंप को खुलवा दिया है। लेकिन इस अनहोनी के कारण ग्रामीणों के सामने एक बड़ी समस्या खड़ी हो गई है। क्योंकि पहाड़ी क्षेत्र में एकमात्र हैंडपंप होने के कारण लोगों के लिए अब पेयजल की विकट समस्या खड़ी हो गई है। पानी के लिए ग्रामीणों को काफी दूर जाना पड़ रहा है। जिससे ग्रामीणो को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

ग्रामीणों के लिए पानी की हो रही व्यवस्था

जल निगम के एक्सईएन ने बताया पानी का सैंपल लैब जांच के लिए भेज दिया गया। हैंडपंप को खुलवा दिया गया है और ग्रामीणों को पेयजल की व्यवस्था की जा रही है।

खबरें और भी हैं...