वाराणसी में डॉक्टर को दिखाने से पहले एंटीजन-RTPCR टेस्ट:BHU अस्पताल में मरीज और अटेडेंट दोनों को दिखानी होगी कोविड निगेटिव रिपोर्ट

वाराणसी18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
BHU के सर सुंदरलाल अस्पताल की ओपीडी। - Dainik Bhaskar
BHU के सर सुंदरलाल अस्पताल की ओपीडी।

वाराणसी स्थित IMS-BHU के सर सुंदरलाल अस्पताल में डॉक्टर को दिखाने के लिए कोविड की निगेटिव रिपोर्ट जमा करनी होगी। मरीज के साथ ही अटेंडेंट को भी अस्पताल में ही कोरोना की जांच करानी होगी। उसके बाद ही डॉक्टर के साथ अप्वाइंटमेंट होगा। यह नियम आज से ही लागू कर दिया गया है। BHU अस्पताल में ही कोविड की जांच की जा रही है। तत्काल वाले मरीजों का वहीं पर एंटीजन टेस्ट किया जा रहा है। निगेटिव आने पर ही उन्हें डॉक्टर के चेंबर में भेजा जा रहा है। वहीं एंटीजन पॉजिटिच आने पर उनका RT-PCR टेस्ट किया जा रहा है।

मरीजों की फजीहत
आज से बदली व्यवस्था के बाद मरीजों और उनके परिजनों को काफी फजीहत हो रही है। वहीं रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद मरीज के साथ केवल सिंगल अटेंडेंट ही डॉक्टर या वार्ड में आ जा सकेगा। इसके अलावा कोई भी व्यक्ति मरीज के साथ नहीं जाएगा। इसके अलावा आज से BHU अस्पताल में केवल ऑनलाइन या एप पर रजिस्ट्रेशन कराने वाले मरीजों को ही देखा जा रहा है। कुल 50 मरीज एक विभाग में देखे जा रहे हैं। वहीं 25 विश्वविद्यालय के स्टाफ और कर्मचारी होंगे। वहीं इमरजेंसी हर मरीज देखे जाएंगे, जहां उनकी भी कोविड जांच होगी।

SSH IMS-BHU एप डाउनलोड कर लें
सर सुंदरलाल अस्पताल के MS प्रो. केके गुप्ता ने बताया कि अपने एंड्रायड फोन में गूगल प्ले स्टोर पर जाकर SSH IMS-BHU एप डाउनलोड कर लें। यहां पर डॉक्टरों के साथ अप्वाइंटमेंट लिया जा सकता है। इससे पहले सुनिश्चित हो लें कि आप कोरोना पॉजिटिव नहीं हैं। बता दें कि शुक्रवार को कुलपति का चार्ज संभालने के बाद प्रो. सुधीर कुमार जैन BHU अस्पताल पहुंचे। यहां पर उन्होंने कोरोना से लड़ने की जमीनी हकीकत जानी। MS प्रो. गुप्ता को कहा कि आप एक डॉक्टर की तरह पूरी मुस्तैदी से ट्रीटमेंट का जिम्मा संभालें, बाकी सब कुछ मेरे ऊपर छोड़ दें।

खबरें और भी हैं...