काशी की शाम में घुल रही ठिठुरन:वाराणसी में अभी खिली है चमकदार धूप, जल्द ही हिमालय से आएगी बर्फीली हवा

वाराणसी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी में शाम होते-होते मौसम ठंड की आगोश में चला जा रहा है। - Dainik Bhaskar
वाराणसी में शाम होते-होते मौसम ठंड की आगोश में चला जा रहा है।

वाराणसी में ठंडक ने अब जोर पकड़ लिया है। शाम के 5 बजते-बजते ऐसा लग रहा है कि प्रकृति ने कूलिंग बढ़ा दी हो और लोग ठिठुरते नजर आ रहे हैं। गाड़ी से चलने पर ठंडी हवा शरीर में कंपन पैदा कर रही है। इससे बचने के लिए लोग अभी से ही गरम कपड़ों का ही सहारा लेना शुरू कर चुके हैं। वहीं आज सुबह से ही काशी में धूप निकली है, चमक भी बरकरार है। मगर, मौसम के आगे उसकी किरणों का ताप अब फीका पड़ गया है। इतना तो है कि अभी सुबह की धूप में गरम कपड़े पहनकर निकलने जैसी नौबत तो नहीं आई है।

आज वाराणसी का औसत तापमान 18 पर है। जबकि मंगलवार को न्यूनतम तापमान 13 डिग्री के आसपास था। वहीं, अधिकतम तापमान 31.2 पर गया। हवा अभी तो स्थिर है, मगर कल शाम 8 किलाेमीटर प्रति घंटे की स्पीड से चल रही थी।

अब अलाव और गरम कपड़े निकाल लें
माैसम विज्ञान विभाग के अनुसार, तापमान में इसी तरह का रुझान आगे भी बना रहेगा। भयानक सर्दी वाला दिन अभी अगले सप्ताह तक नहीं आना है। वहीं दूसरी ओर काशी हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) के मौसम वैज्ञानिक प्रोफेसर मनोज कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि अभी हिमालय की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी हो रही थी। लेकिन, अब पिथौरागढ़ और निचले इलाकों में बारिश और स्नो फॉल होने का अलर्ट जारी किया गया है। यहीं से अब उत्तर भारत की ठंडी में तेजी आएगी।

पश्चिमी विक्षोभ के साथ जैसे ही हवा उत्तर भारत की ओर आएगी तापमान में तेजी से कमी आएगी। तब रात के साथ में दिन में भी ठिठुरन बढ़ेगी। प्रो. श्रीवास्तव ने बताया कि बनारस के लोग तैयारी पहले से कर लें, नहीं तो कड़ाके की ठंडी अचानक आएगी और बेवजह नुकसान कर जाएगी। अलाव, स्वेटर, जैकेट, अंगीठी, दस्ताने और टोपी आदि साथ में रखे रहे कभी इन्हें लगाने की जरूरत पड़ सकती है।

65 अंक का रिकार्ड अंतर
त्योहार का सीजन आते ही वाराणसी की हवा बिगड़ने लगी है। पूरे शहर में स्थिति बदतर होती जा रही है। दिवाली तक तो हवा की क्वालिटी में और भी कमी आएगी। आज सुबह वाराणसी का एयर क्वालिटी इंडेक्स 128 अंक तक दर्ज किया गया। शहर में मलदहिया और अर्दली बाजार के AQI में रिकार्ड 65 अंक का अंतर देखा गया। आमतौर पर बनारस का सबसे प्रदूषित इलाका अर्दली बाजार रहता है, मगर आज मलदहिया टॉप पर रहा। अर्दली बाजार का AQI 96 अंक तो वहीं मलदहिया में 161 अंक तक दर्ज किया गया। इसके अलावा BHU में 133 अंक और भेलूपुर में 122 अंक रहा।

खबरें और भी हैं...