पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

PM मोदी की आगवानी के लिए CM योगी पहुंचे काशी:प्रधानमंत्री के स्वागत के लिए मुख्यमंत्री वाराणसी पहुंचे, तैयारियों का फिर लेंगे जायजा, परखेंगे सुरक्षा व्यवस्था

वाराणसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हेलीकॉप्टर पुलिस लाइन ग्राउंड में लैंड किया। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हेलीकॉप्टर पुलिस लाइन ग्राउंड में लैंड किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 जुलाई को वाराणसी आ रहे हैं। प्रधानमंत्री के स्वागत के मद्देनजर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार की शाम वारणसी पहुंच गए। मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री के आगमन की तैयारियों का जायजा लेंगे और सुरक्षा व्यवस्था को खुद परखेंगे। मुख्यमंत्री रात्र विश्राम सर्किट हाउस में करेंगे। गुरुवार की सुबह प्रधानमंत्री के वाराणसी आने से पहले वह शहर की सजावट और साफ-सफाई की व्यवस्था को देखेंगे।

एक दिन पहले भी मुख्यमंत्री ने तैयारियों का लिया था जायजा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री के आगमन संबंधी तैयारियों का जायजा लेने के लिए मंगलवार की दोपहर भी शहर आए थे। उन्होंने अफसरों से कहा था कि तैयारियों में कहीं रत्ती भर की भी कमी न रह जाए। सुरक्षा व्यवस्था ऐसी हो कि परिंदा भी पर न मार सके। बीएचयू आईआईटी के खेल मैदान स्थित प्रधानमंत्री के जनसभा स्थल और उनके अन्य दोनों कार्यक्रम स्थल पर कोविड-19 की गाइडलाइन का शत-प्रतिशत पालन हो।

मुख्यमंत्री ने कहा था कि यातायात व्यवस्था ऐसी हो कि आमजन को कोई दिक्कत न हो। इसके साथ ही प्रधानमंत्री के शहर प्रवास के दौरान भी आमजन को किसी प्रकार की असुविधा न हो। जो लोग शांति और कानून व्यवस्था में बाधक बनें, उनके खिलाफ पुलिस सख्ती से निरोधात्मक कार्रवाई करे।

बीएचयू से बाबतपुर तक का इलाका छावनी में तब्दील

प्रधानमंत्री के शहर आगमन के मद्देनजर बीएचयू से लेकर बाबतपुर एयरपोर्ट तक का क्षेत्र छावनी में तब्दील हो गया है। 21 आईपीएस के नेतृत्व में पुलिस, पीएसी और सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स के 10 हजार से ज्यादा जवान शहर भर में तैनात हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री के सभी कार्यक्रम स्थल एसपीजी और नई दिल्ली से आए खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों की निगरानी में हैं। प्रधानमंत्री के आवाजाही के रूट पर गुरुवार की सुबह से ही रूफ टॉप फोर्स तैनात रहेगी। उनके कार्यक्रम स्थल नो फ्लाइंग जोन घोषित रहेंगे और सेना की तीनों इकाइयों के अधिकारी एलर्ट मोड में रहेंगे।

खबरें और भी हैं...