वाराणसी में क्लास-3 की छात्रा से रेप की FIR:स्कूल के टॉयलेट में गई तो अंकल ने मेरा मुंह दबाकर दरवाजा लगा दिया, बोले- बहुत मारूंगा

वाराणसी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

UP में वाराणसी के लहरतारा स्थित सनबीम स्कूल में क्लास-3 की बच्ची के साथ रेप मामले में 9 साल की बच्ची ने घर जाकर अपनी मम्मी को जो बताया, वही FIR में भी दर्ज है। उसने बताया कि टॉयलेट में पहुंचते ही स्वीपर अंकल ने दरवाजा बंद करके मेरा मुंह बंद कर दिया। उसने कहा कि अगर किसी से कुछ बताया तो बहुत मार पड़ेगी। इसी वजह से मैं डर गई थी। घर जाकर मम्मी से दर्द बयां किया।

FIR के अनुसार बीती 26 नवंबर को बेटी सुबह करीब 7 बजे के घर से स्कूल के लिए निकली थी। दोपहर 1:30 बजे के करीब बेटी घर आई। घर आते ही अपनी मां को देखकर वह रोने लगी और बताई कि जिस फ्लोर पर उसका क्लास है, वहां टॉयलेट नहीं है। इसी वजह से दूसरे फ्लोर पर स्थित टॉयलेट में उसे जाना पड़ा। वहां टॉयलेट साफ कर रहे एक अंकल ने उसके साथ गलत काम किया।

मासूम बच्ची से रेप का आरोपी स्वीपर अजय कुमार उर्फ सिंकू।
मासूम बच्ची से रेप का आरोपी स्वीपर अजय कुमार उर्फ सिंकू।

'अंकल ने दरवाजा बंद कर मुंह दबा दिया था'
छात्रा के अनुसार, वह दूसरे फ्लोर पर बने टॉयलेट में गई तो वहां पहले से ही एक अंकल साफ-सफाई कर रहे थे। उन्होंने पूछा कि कहां जाना है तो छात्रा ने बताया कि टॉयलेट जाना है। इस पर अंकल ने कहा कि इधर आओ और इस टॉयलेट में जाओ। वह टॉयलेट के अंदर गई तो अंकल ने दरवाजा बंद कर दिया और उसे पकड़ कर उसका मुंह दबा दिया। इसके बाद अंकल ने उसके साथ गंदी हरकत की। वह रोने लगी और अंकल से छोड़ देने को कही, लेकिन वह नहीं माने। फिर अंकल ने उसे धमकाया कि अगर किसी से कुछ भी बताओगी तो बहुत मारेंगे। इस वजह से वह और भी डर गई थी और स्कूल में किसी से कुछ कहने की उसकी हिम्मत नहीं हो पाई।

स्कूल स्टाफ ने स्वीपर की पहचान बताई
छात्रा के पिता के अनुसार उनकी बेटी के साथ हुई दरिंदगी की जानकारी उन्हें अपनी पत्नी से मिली। पत्नी के मुंह से सब सुनकर वह सन्न रह गए। उनकी बेटी बीते 3 साल से लहरतारा स्थित सनबीम स्कूल में पढ़ रही थी। आनन-फानन वह भागकर स्कूल गए और वहां स्वीपर के बारे में उन्होंने पूछताछ की। स्कूल स्टाफ से पता लगा कि आरोपी स्वीपर पसियाना गली, बौलिया निवासी अजय कुमार उर्फ सिंकू है। इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना देकर सिगरा थाने में FIR दर्ज कराई और तब जाकर आरोपी पकड़ा गया।

आरोपी को जल्द से जल्द कठोर सजा दिलाएंगे
DCP वरुणा जोन विक्रांत के अनुसार, आरोपी अजय के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा-376 और लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम-2012 की धारा 5, 6, 15 व 16 के तहत सिगरा थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत कार्रवाई की तैयारी भी शुरू कर दी गई है। जिला और सत्र न्यायाधीश से अपील कर इस मुकदमे का ट्रायल फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराया जाएगा। इसके साथ ही पुलिस कमिश्नर द्वारा गठित SIT जांच कर यह रिपोर्ट देगी कि इस घटना में स्कूल प्रबंधन से कहां चूक हुई और उनकी क्या गलती है?

खबरें और भी हैं...