बाबा दरबार देख मुख्यमंत्री मंत्रमुग्ध:CM योगी ने काशी विश्वनाथ का दर्शन-पूजन किया, बोले- धाम के प्रवेश द्वार होंगे आकर्षण के सबसे बड़े केंद्र; 75 फीसदी काम पूरा

वाराणसी9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्माणाधीन काशी विश्वनाथ धाम के काम की प्रगति के बारे में जानकारी ली। मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को बताया कि लगभग 75 फीसदी काम पूरा हो गया है। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्माणाधीन काशी विश्वनाथ धाम के काम की प्रगति के बारे में जानकारी ली। मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को बताया कि लगभग 75 फीसदी काम पूरा हो गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार की रात श्री काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे। उन्होंने बाबा का षोडशोपचार पूजन कर निर्माणाधीन काशी विश्वनाथ धाम के काम का जायजा लिया। CM योगी नंदी हाल होते हुए पश्चिमी प्रवेश द्वार की तरफ गए तो उन्होंने वहां बन रहे भव्य प्रवेश द्वार को बड़े ही ध्यान से निहारा। वह प्रवेश द्वार की ऊंचाई और उसकी भव्यता को देख मर मंत्रमुग्ध हो गए।

उन्होंने कहा कि प्रवेश द्वार धाम के आकर्षण का सबसे बड़ा केंद्र बनेंगे। इस दौरान मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि धाम का लगभग 75 फीसदी काम पूरा हो चुका है। फिनिशिंग का काम अंतिम चरण में है। धर्मार्थ कार्य मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने बताया कि मंदिर परिसर के प्रवेश द्वारों का काम अब पूरा होने जा रहा है। वहीं, CM ने मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील कुमार वर्मा से कहा कि श्रद्धालुओं की सुविधाओं और उनकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ही निर्माण कार्य कराया जाए।

मुख्यमंत्री ने श्री काशी विश्वनाथ का षोडशोपचार पूजन किया।
मुख्यमंत्री ने श्री काशी विश्वनाथ का षोडशोपचार पूजन किया।

दीपावली से पहले गड्ढा मुक्त करें सड़क

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कचहरी स्थित सर्किट हाउस में मंडलायुक्त और डीएम समेत कई बड़े अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि वर्तमान में शहर में 8871.27 करोड़ रुपए की 117 प्रमुख परियोजनाएं चल रहीं हैं। काशी में फोरलेन का जाल बिछ गया है। शहर के हर क्षेत्र का सुंदरीकरण हुआ। हालांकि उन्होंने दीपावली से पूर्व ही वाराणसी की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का सख्त निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि विभाग अपनी-अपनी सड़कों का सर्वे कर प्लान बना लें। जिले के कई विभागों ने 542 सड़कों पर 900 किलोमीटर पैच वर्क की कार्ययोजना बना ली है। जिस पर 17 करोड़ 68 लाख रुपए व्यय आएगा।

डेंगू पर कहा, तेज करें फीवर ट्रैकिंग

मुख्यमंत्री ने डेंगू के बढ़ते मामले पर कहा कि फीवर ट्रैकिंग का काम तेजी से करें। अन्य संक्रामक रोगों के नियंत्रण के लिए शहर से गांव तक सघन पर्यवेक्षण और विशेष स्वच्छता कार्य, टेस्टिंग, इलाज, बचाव हेतु जागरूकता कार्यक्रम चलाएं​​​​​​।

उन्होंने कहा कि जिले की समस्त 694 ग्राम पंचायतों में 712 स्प्रे मशीन और 120 फागिंग मशीन से स्प्रे व फागिंग हो रहा है। हैंड पंप के पास सफाई व नाली सफाई की जा रही है। गांव में 694 निगरानी समिति क्रियाशील है। अब तक जरूरतमंदों को 151679 मेडिकल किट वितरित की जा चुकी है। काशी में प्रवासियों, मजदूरों समेत 137723 लोगों को आर्थिक सहायता दी गई। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में अब तक 2 लाख 90 हजार 437 गोल्डन कार्ड बन चुके हैं।

वहीं, 66851 लोगों का उपचार आयुष्मान भारत में किया जा चुका है। फीवर ट्रैकिंग में जुलाई से अब तक 75050 टेस्ट किए गए। जनपद में चिकनगुनिया, कालाजार, जेई या एईएस का कोई केस बनारस में नहीं पाया गया। डेंगू की 124 कंफर्म केस पाए गए जिन का इलाज हुआ। अब तक जनपद में 21,78000 लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है। स्पेशियल सैनिटेशन प्रोग्राम जून से बराबर चलाया जा रहा है। शहर व गांव में व्यापक फागिग, एंट्री लार्वा स्प्रे, ब्लीचिंग स्प्रे, सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट, नाली सफाई आदि कार्य युद्ध स्तर पर किए जा रहे हैं।

बाढ़ पर बेहतर प्रबंधन कर जल क्षति को कम किया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में बाढ़ पर बेहतर नियंत्रण प्रबंधन किया गया है। इसने जल क्षति को कम किया है। उन्होंने वाराणसी में गंगा जल स्तर पर निगाह रखने और आवश्यक कार्यवाही का निर्देश दिया है। काशी में बाढ़ नियंत्रण और प्रभावित लोगों तक पहुंची सहायता से आमजन ने अच्छा महसूस किया। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कहा कि पर्यटकों को और अधिक आकर्षित करने का प्रयास किया जाए। काशी में सुखद अनुभूति कैसे पर्यटकों को कराया जा सकता है इस पर जनता से संवाद कर हल खोजें।

खबरें और भी हैं...