विवादित पोस्टर चिपकाने वालों पर कार्रवाई हो:वाराणसी में विहिप और बजरंग दल के खिलाफ कांग्रेस ने खोला मोर्चा, एडिशनल सीपी से एक्शन लेने की मांग

वाराणसी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अपर पुलिस आयुक्त (मुख्यालय एवं अपराध) सुभाष चंद्र दुबे से शिकायत करने पहुंचे कांग्रेस महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे। - Dainik Bhaskar
अपर पुलिस आयुक्त (मुख्यालय एवं अपराध) सुभाष चंद्र दुबे से शिकायत करने पहुंचे कांग्रेस महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे।

वाराणसी के गंगा घाटों पर बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के कार्यकर्ताओं की ओर से चिपकाए गए विवादित पोस्टर के खिलाफ कांग्रेस ने मोर्चा खोला है। शुक्रवार को कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने अपर पुलिस आयुक्त (मुख्यालय एवं अपराध) सुभाष चंद्र दुबे से मुलाकात की। उन्हें पत्र देकर कहा कि धार्मिक भेदभाव फैलाने वाले विवादित पोस्टर शहर में चिपकाने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है। चुनावी माहौल में शहर में ऐसी गलत हरकतें क्यों करने दी जा रही हैं। अपर पुलिस आयुक्त (मुख्यालय एवं अपराध) ने आश्वासन दिया कि पुलिस प्रकरण की जांच कर उचित कार्रवाई करेगी।

पुलिस आयुक्त कार्यालय के बाहर कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल पत्रक लेकर खड़ा हुआ। हालांकि कोरोना के बढ़ते हुए संक्रमण के बावजूद पार्टी के महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे सहित अन्य नेताओं के चेहरे पर मास्क नहीं दिखा और सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन भी नहीं किया गया।
पुलिस आयुक्त कार्यालय के बाहर कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल पत्रक लेकर खड़ा हुआ। हालांकि कोरोना के बढ़ते हुए संक्रमण के बावजूद पार्टी के महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे सहित अन्य नेताओं के चेहरे पर मास्क नहीं दिखा और सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन भी नहीं किया गया।

चुनाव देखकर माहौल बिगाड़ने लगते हैं लोग

कांग्रेस के महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे ने कहा कि चुनाव जब-जब होते हैं भाजपा और उसके सहयोगी संगठन हिंदू-मुसलमान, भारत-पाकिस्तान, धार्मिक भेदभाव फैलाने और सांप्रदायिक दुष्प्रचार में लग जाती है। यही दृश्य इस बार भी काशी में देखने को मिल रहा है। भाजपा के सहयोगी संगठनों द्वारा गंगा घाटों पर दुष्प्रचार शुरू कर दिया गया है। धार्मिक भेदभाव वाले पोस्टर लगाए गए हैं जो अनुचित हैं। काशी एकता और अखंडता का प्रतीक शहर है। ऐसे में काशी की आत्मीयता पर आघात करने वालो पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

कार्रवाई नहीं हुई तो करेंगे आंदोलन

राघवेंद्र चौबे ने कहा कि शहर का माहौल खराब करने का यह कृत्य पूरी तरह से भाजपा के इशारे पर किया जा रहा है। चुनाव के समय धार्मिक तनाव भाजपा के चुनावी एजेंडे में होता है। पोस्टर प्रकरण की हम सब कड़ी निंदा करते हैं। हम प्रशासन से मांग करते है कि जो धार्मिक भेदभाव फैलाने और दुष्प्रचार का काम कर रहे हैं उन पर तत्काल कार्रवाई हो। जो भी काशी की एकता और अखंडता पर प्रहार करेगा हम उसके खिलाफ लड़ाई जारी रखेंगे।

हमने लेटर दिए हैं, कार्रवाई नहीं हुई तो हम आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। प्रतिनिधिमंडल में शैलेन्द्र सिंह, ओमप्रकाश ओझा, फसाहत हुसैन बाबू, अशोक सिंह, डॉ. राजेश गुप्ता, हसन मेंहदी कब्बन, ब्रह्मदत्त त्रिपाठी, आशीष सिंह विक्की, रंजीत तिवारी, आशीष गुप्ता, रोहित दुबे, विनीत चौबे, रामजी गुप्ता, रितेश वर्मा, राज जायसवाल, इम्तियाज अली सहित कांग्रेस के अन्य लोग शामिल थे।

खबरें और भी हैं...