कोहरे से विजिबिलिटी घटकर 50 मीटर हुई:वाराणसी में दिन का तापमान सामान्य से 5 °C कम

वाराणसी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी में ठंड की वजह से संत रविदास घाट पर अलाव के पास बैठे लोग। - Dainik Bhaskar
वाराणसी में ठंड की वजह से संत रविदास घाट पर अलाव के पास बैठे लोग।

वाराणसी में आज ठंड के साथ घना कोहरा भी छाया हुआ है। ठंड के इस सीजन का यह पहला कोहरा है जो इतना जोरदार है। इस वजह से वाराणसी के विजिबिलिटी घटकर महज 50 मीटर पर आ गई है। इससे सड़कों पर चलना काफी दूभर होने लगा है। घना कोहरा रविवार रात से ही छाने लगा था। वहीं पूरी रात कोहरे के साए में ही बीत गई। मौसम के इस मार ने लोगों को घरों में पड़े रहने को मजबूर कर दिया है।

दिन का पारा सामान्य से भी 5-6°C कम 17°C तक दर्ज किया जा रहा है। वहीं रात का तापमान भी 7°C के आसपास पहुंच रहा है। रात के समय कई बार तेज हवा चलने लगती है। इससे गलन काफी बढ़ जाती है। यह बर्फीली हवा की तरह से काफी असर करने लगी है।

दोपहर में धूप निकलते ही लोग उमड़ रहे घाटों पर

ठंड और गलन के बीच शुरू हुआ नया साल का जश्न अभी भी थम नहीं रहा है। मौसम की मार को देखते हुए आम शहरी दोपहर 12 बजे तक घाटाें और रेती पर पहुंच कर चिल कर रहे हैं। आज वाराणसी का औसत तापमान 9°C पर बना हुआ है। वहीं हवा अभी शांत है, मगर उसमें नमी 97% तक बरकरार है। मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, 3 दिन बाद 2 दिन के लिए हल्के बादल छा सकते हैं। उसके बाद मौसम फिर से कोहरे वाला हो जाएगा। सर्द रातें और दिन अब तो पूरी जनवरी भर ही सताएंगे।

होने लगा सूरज का उदय

घने कोहरे के बाद आज सूरज का उदय होने लगा है। उजाले की किरणें अब वाराणसी की धरती पर पड़ने लगी है। इससे ठंडक कुछ देर में कम हो सकती है। काशी हिंदू विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक प्रो. मनोज कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि वाराणसी पूरी तरह से कोल्डवेव की चपेट में है। रात के साथ ही दिन में जरूरी न हो तो बेवजह बाहर न निकले। छत पर जाए और धूप लें। यह ठंड हेल्थ के लिहाज से बेहद खराब मानी जाती है।