• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • Dissatisfied With Being Promoted, 1031 Students Of Class 10th And 12th Will Appear In Varanasi, Only Schools Equipped With High Internet Connectivity And CCTV Have Been Made The Center

वाराणसी में यूपी बोर्ड की पूरक परीक्षा शुक्रवार से शुरू:प्रमोट किए जाने से असंतुष्ट 10वीं और 12वीं के 1031 विद्यार्थी देंगे परीक्षा; हाई इंटरनेट कनेक्टिवटी और CCTV से लैस स्कूलों को ही बनाया गया है केंद्र

वाराणसी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी में यूपी बोर्ड में 10वीं और 12वीं की पूरक परीक्षाएं 18 सितंबर से 8 अक्टूबर के बीच आयोजित होंगी।  - Dainik Bhaskar
वाराणसी में यूपी बोर्ड में 10वीं और 12वीं की पूरक परीक्षाएं 18 सितंबर से 8 अक्टूबर के बीच आयोजित होंगी। 

यूपी बोर्ड के जो छात्र प्रोन्नत किए जाने से असंतुष्ट या किसी गड़बड़ी के कारण अबसेंट हो गए थे, उन्हें दोबारा से परीक्षा देने का मौका मिल रहा है। यूपी बोर्ड की यूपी बोर्ड में 10वीं और 12वीं की पूरक परीक्षाएं 18 सितंबर से 8 अक्टूबर के बीच आयोजित होंगी। 10वीं और 12वीं की पूरक परीक्षाएं 18 सितंबर से 8 अक्टूबर के बीच आयोजित होंगी। कुल 1031 छात्र-छात्राओं के लिए वाराणसी में परीक्षा के 15 केंद्र बनाए गए हैं। सुरक्षा की लिहाज से इन्हें 4 जोन और 5 सेक्टरों में बांटा गया है। इन परीक्षाओं के लिए उन्हीं केंद्रों को चयनित किया गया है, जहां पर पहले हाई इंटरनेट कनेक्विटी के साथ CCTV कैमरे इंस्टाल हैं। इस परीक्षा पर कड़ी निगरानी रखने के लिए 4 जोनल मजिस्ट्रेट और 5 सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। 10वीं की परीक्षा 12 दिन और 12वीं की 15 दिनों तक चलेंगी। जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. विनोद कुमार राय के अनुसार परीक्षा की सारी तैयारियां हो चुकी हैं। इन 15 परीक्षा केंद्रों पर हाईस्कूल के 390 और इंटरमीडिएट के 641 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। वहीं 15 पर्यवेक्षक और 15 केंद्र व्यवस्थापक चुन लिए गए हैं। तीन उड़ाका दल भी बनाए गए हैं, जो कि इन सेंटरों की कार्यविधि की देखरेख करेंगे।

मन मुताबिक अंक न आना बनी पूरक परीक्षा की वजह

इस बार कोरोना की वजह से यूपी बोर्ड की परीक्षाएं रद कर सभी छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नति कर दिया गया था। इसको लेकर कई छात्रों का कहना था कि उन्हें मन मुताबिक अंक नहीं मिले हैं। वहीं कई छात्रों ने यह भी समस्या जाहिर की थी कि उनके मार्कशीट में केवल पास दिखाया गया है। जबकि विषयवार अंक उन्हें नहीं दिए गए। 10वीं और 12वीं के आए परिणाम से असंतुष्ट छात्रों ने इसका विरोध किया था। कई छात्रों ने बताया कि उनके नाम में गड़बड़ियां होने के कारण अंक पत्र नहीं जारी हो सके थे। वहीं कई छात्र जो फॉर्म नहीं भर पाए थे उनके रिजल्ट ही नहीं जारी हुए। ऐसे में वाराणसी के 1031 विद्यार्थियों ने पूरक परीक्षा के लिए आवेदन दिया था, जिसको देखते हुए बोर्ड ने परीक्षा कराने का फैसला लिया।

खबरें और भी हैं...