वाराणसी...अंधविश्वास ने ले ली चाचा की जान:भूत-प्रेत का आरोप लगाकर भतीजे ने ईंट से कूचकर मार डाला, 4 के खिलाफ FIR

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रामलाल विश्वकर्मा। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
रामलाल विश्वकर्मा। (फाइल फोटो)

वाराणसी के दौलतपुर गांव में अंधविश्वास का मामला सामने आया है। यहां भूत-प्रेत कराने का आरोप लगाकर भतीजे ने चाचा को पीट-पीटकर मार डाला। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। इस मामले में 1 महिला सहित 4 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उन्हें हिरासत में लिया गया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।

दीपक जलाने को लेकर हुआ विवाद

दौलतपुर गांव के रहने वाले संजय विश्वकर्मा ने बताया कि उनके घर की बाउंड्री के पास गूलर का पुराना पेड़ है। उनके पिता रामलाल विश्वकर्मा (72) गूलर के पेड़ के नीचे रोज दीपक जलाते थे। दीपक जलाने को लेकर उनके बड़े पिता के बेटे अजीत विश्वकर्मा नाराज चल रहे थे। उनके परिवार के लोगों ने भूत-प्रेत कराने का आरोप लगाते हुए उसके पिता से शुक्रवार को सुबह करीब 10 बजे झगड़ा करना शुरू कर दिया। अजीत का कहना था कि भूत-प्रेत कराने के कारण ही उसकी पत्नी राजेश्वरी देवी की तबीयत खराब रहती है। संजय के अनुसार उनके पिता सिंचाई विभाग से रिटायर थे।

ईंट-पत्थर से किया हमला

कहा-सुनी के दौरान अजीत, उसकी पत्नी राजेश्वरी देवी और बेटे अमन उर्फ आकाश व राहुल घर से बाहर आ गए। अजीत के साथ मिलकर उन्होंने ईंट-पत्थर से उसके पिता रामलाल पर हमला कर दिया। हमले में गंभीर रूप से घायल रामलाल को पांडेयपुर स्थित ईएसआईसी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

बुजुर्ग की मौत की जानकारी पाकर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस पूछताछ करते हुए।
बुजुर्ग की मौत की जानकारी पाकर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस पूछताछ करते हुए।

गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज

लालपुर पांडेयपुर थाना प्रभारी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि संजय की तहरीर के आधार पर अजीत, राजेश्वरी, राहुल और अमन के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। घटना के संबंध में आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। घटनास्थल पर मिले ईंट-पत्थर को कब्जे में ले लिया गया है। सभी को अदालत में पेश कर जेल भेजा जाएगा। आरोपियों के खिलाफ हमारे पास पर्याप्त साक्ष्य है।