पत्नी ने बेटे को जन्म दिया, पति की मौत हुई:वाराणसी में करेंट की चपेट में आने से बिजली मिस्त्री की जान गई, परिजनों में मचा कोहराम

वाराणसी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिनेश पटेल। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
दिनेश पटेल। (फाइल फोटो)

वाराणसी के बीरभानपुर गांव का रहने वाला एक बिजली मिस्त्री अपने बेटे के पैदा होने की खुशी मना भी नहीं पाया था कि शुक्रवार को करेंट की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। घटना से अस्पताल में भर्ती बिजली मिस्त्री की पत्नी और उसके परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। वहीं, सूचना पाकर सारनाथ थाने की पुलिस ने बिजली मिस्त्री के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

कनेक्शन काटने के दौरान हुआ हादसे का शिकार

राजातालाब थाना अंतर्गत बीरभानपुर निवासी दिनेश पटेल (30) सारनाथ क्षेत्र की श्रीनगर कॉलोनी की मुन्नी देवी के घर के सामने बिजली संबंधी काम करने गया था। काम करने के दौरान ट्रांसफार्मर स्थानांतरित करने के लिए बिजली के पोल से कनेक्शन काटने के दौरान तार फेंकते समय वह करेंट की चपेट में आते ही बुरी तरह से झुलस कर नीचे गिर गया। आनन-फानन उसे सिगरा स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान शुक्रवार की रात उसकी मौत हो गई।

पत्नी 1 दिन पहले ही बेटे को जन्म दी थी

परिजनों ने बताया कि दिनेश 4 भाइयों में तीसरे नंबर पर था। उसकी 3 साल की एक बेटी है। 1 दिन पहले उसकी पत्नी रेखा पटेल ने अस्पताल में बेटे को जन्म दिया था। रंजीत की मौत की सूचना मिलने के बाद बेसुध रेखा बार-बार यही रट रही थी कि अब उसके बच्चों का क्या होगा। उसका बिलखना देख हॉस्पिटल के मौजूद लोगों की आंखें भी डबडबा उठीं।

महिला के खिलाफ दर्ज कराएंगे मुकदमा

अधिशासी अभियंता एके सिंह ने बताया कि श्रीनगर निवासी मुन्नी देवी हमारे यहां अपने घर के सामने से ट्रांसफार्मर हटाने के लिए प्रार्थना पत्र दी थी। उनसे कहा गया था कि जब तक आप विद्युत निदेशालय से एनओसी प्राप्त नहीं कर लेती तब तक विद्युत विभाग ट्रांसफार्मर नहीं हटाएगा। इसके बावजूद वह प्राइवेट ठेकेदार और मिस्त्री बुलाकर अपने घर के सामने से ट्रांसफार्मर हटवाने लगी। तभी 11000 वोल्ट के तार में प्रवाहित हो रहे करेंट की चपेट में आने से बिजली मिस्त्री झुलस गया। विभाग द्वारा मुन्नी देवी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...