वाराणसी...संदिग्ध हालत में 2 की मौत:डेढ़ साल की बच्ची की मौत के मामले में पिता से पूछताछ, पानी पीने के बाद राजगीर की जान गई

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छित्तनपुरा क्षेत्र में डेढ़ साल की बच्ची की मौत की सूचना पाकर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस। - Dainik Bhaskar
छित्तनपुरा क्षेत्र में डेढ़ साल की बच्ची की मौत की सूचना पाकर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस।

वाराणसी में शनिवार को आदमपुर और चोलापुर थाना क्षेत्र में डेढ़ साल की एक बच्ची और एक राजगीर की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। बच्ची का शव आदमपुर थाने की पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है और उसके पिता लंबी पूछताछ भी की। वहीं, राजगीर की मौत के मामले में उसके परिजनों ने किसी भी प्रकार की कार्रवाई से इंकार कर दिया।

बच्ची की मौत के बाद उसकी मां और ननिहाल पक्ष के लोगों के मौखिक आरोपों के आधार पर पुलिस उसके पिता को पूछताछ के लिए ले गई और फिर छोड़ दी।
बच्ची की मौत के बाद उसकी मां और ननिहाल पक्ष के लोगों के मौखिक आरोपों के आधार पर पुलिस उसके पिता को पूछताछ के लिए ले गई और फिर छोड़ दी।

बच्ची को पिता लेकर लौटा तो बेसुध थी

आदमपुर थाना अंतर्गत छित्तनपुरा निवासी अबुल हसन की डेढ़ साल की बच्ची की तबीयत काफी दिनों से खराब थी। बच्ची का इलाज कराया जा रहा था। बच्ची की मां नूरसबा ने बताया कि उनकी बच्ची रो रही थी। इसे लेकर उसने सास को बच्ची को देखने के लिए दिया था। इसके बाद बच्ची का पिता अबुल हसन उसे बाहर लेकर चला गया। अबुल हसन जब बेटी को लेकर वापस आया तो वह बेसुध थी।

नूरसबा आनन-फानन बच्ची को लेकर कच्चीबाग स्थित अपने मायके गई जहां लोगों ने कहा कि उसकी मौत हो गई है। इसके बाद नूरसबा के परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी और बच्ची का शव लेकर आदमपुर थाने पहुंचे। सभी ने बच्ची के पिता पर उसे मार डालने का आरोप लगाया तो पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

तहरीर में बीमारी से मौत का जिक्र

इस संबंध में इंस्पेक्टर आदमपुर कुलदीप दुबे ने बताया कि मौखिक तौर पर बच्ची की मां और ननिहाल पक्ष के लोग उसके पिता पर हत्या का आरोप लगा रहे थे। हालांकि जो तहरीर दी गई है, उसमें बच्ची की मौत की वजह बीमारी लिखी हुई है। बच्ची के पिता से पूछताछ कर उसे छोड़ दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह स्पष्ट होने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

घर से गया था काम करने, आया शव

चोलापुर थाना अंतर्गत धरसौना गांव निवासी राजगीर श्याम बिहारी राम उर्फ बबलू (50) मोहाव स्थित एक साइट पर ठेकेदार के माध्यम से काम करने गया था। वहां श्याम बिहारी ने किसी मजदूर से पानी मांग कर पिया। इसके कुछ ही देर बाद वह गिरा और उसकी मौत हो गई। चर्चा है कि हार्टअटैक से श्याम बिहारी की मौत हुई है। श्याम बिहारी की मौत से उसके परिजनों में कोहराम मचा हुआ था। सभी रोते-बिलखते हुए गए और श्याम बिहारी का शव लेकर घर आए।

परिजनों ने बताया कि श्याम बिहारी अपने 3 भाइयों में दूसरे नंबर का था। उसके 2 भाइयों की मौत पहले ही हो चुकी है। श्याम बिहारी ही घर का कमाऊ सदस्य था। उसकी पत्नी लालमनि और उसके तीनों बेटों व एक बेटी का रो-रोकर बुरा हाल था। परिजनों ने किसी भी कानूनी कार्रवाई से पुलिस को मना कर दिया।

खबरें और भी हैं...