• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • First Took The Blessings Of Shrikashi Vishwanath, Sankat Mochan And Baba Kal Bhairav In Varanasi, Then Took Over The Charge Of BHU Vice Chancellor

प्रो. जैन ने लिया BHU कुलपति का चार्ज:श्रीकाशी विश्वनाथ, संकट मोचन और बाबा काल भैरव का लिया आशीर्वाद; 284 दिनों बाद मिले परमानेंट वीसी

वाराणसी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
BHU के वीसी पद्मश्री प्रो. सुधीर कुमार जैन। - Dainik Bhaskar
BHU के वीसी पद्मश्री प्रो. सुधीर कुमार जैन।

वाराणसी में काशी हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) को 284 दिन बाद परमानेंट वाइस चांसलर मिल ही गया। 52 दिन पहले नियुक्त हुए IIT-गांधीनगर के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर सुधीर कुमार जैन ने आज सुबह अपना चार्ज ले लिया है। पदभार ग्रहण करने के बाद प्रोफेसर BHU वीसी के टि्वटर हैंडल ने इस बात की आधिकारिक पुष्टि की है। प्रो. जैन BHU के 28वें स्थाई कुलपति हैं।

रेक्टर प्रोफेसर वीके शुक्ला 10 महीने तक कार्यवाहक VC रहे।
रेक्टर प्रोफेसर वीके शुक्ला 10 महीने तक कार्यवाहक VC रहे।

प्रो. जैन से पहले IMS-BHU के डॉक्टर और रेक्टर प्रोफेसर वीके शुक्ला 10 महीने तक कार्यवाहक VC रहे। आज प्रोफेसर शुक्ला ने नए कुलपति को अपना दायित्व सौंप दिया। स्थाई कुलपति मिलने के बाद विश्वविद्यालय के 50 हजार से अधिक छात्रों और फैकल्टी में काफी खुशी है।

श्रीकाशी विश्वनाथ में दर्शन-पूजन करते BHU के वीसी प्रो. सुधीर कुमार जैन।
श्रीकाशी विश्वनाथ में दर्शन-पूजन करते BHU के वीसी प्रो. सुधीर कुमार जैन।

ज्वाइन करते ही परिसर स्थित श्री विश्वनाथ मंदिर में कुलपति प्रो. सुधीर कुमार जैन ने दर्शन पूजन किया। विधि-पूर्वक पूजा के बाद वह अपने सेंट्रल ऑफिस स्थित अपने कार्यालय में पहुंचे। जहां के कर्मचारियों ने उनका स्वागत किया।

BHU परिसर स्थित श्री विश्वनाथ मंदिर में कुलपति प्रो. सुधीर कुमार जैन।
BHU परिसर स्थित श्री विश्वनाथ मंदिर में कुलपति प्रो. सुधीर कुमार जैन।

कार्यभार संभालने से पहले प्रो. सुधीर कुमार जैन ने बाबा काल भैरव, श्री काशी विश्वनाथ जी व संकट मोचन हनुमान जी का दर्शन पूजन किया।

वाराणसी में बाबा काल भैरव के मंदिर में प्रो. जैन।
वाराणसी में बाबा काल भैरव के मंदिर में प्रो. जैन।

प्रोफेसर जैन IIT गांधीनगर से पहले IIT कानपुर में भी प्रोफेसर रहे हैं। वह भूगर्भ विज्ञान और भूकंपीय अध्ययन के विशेषज्ञ हैं। IIT-रूड़की से शिक्षा हुई है।

अब तक रहे कुलपतियों की सूची-

  • डॉ. सर सुंदरलाल : 01.04.1916 - 13.12.1918
  • डॉ. पी.एस. सिवास्वामी अय्यर : 13.04.1918 - 08.05.1919
  • पंडित मदन मोहन मालवीय : 29.11.1919 - 06.09.1938
  • डॉ एस. राधा कृष्णन : 17.09.1939 - 16.01.1948
  • डॉ. अमर नाथ झा : 27.02.1948 - 05.12.1948
  • पंडित गोविंद मालवीय : 06.12.1948 - 21.11.1951
  • आया नरेंद्र देव : 06.12.1951 - 31.05.1954
  • डॉ. सी.पी. रामास्वामी अय्यर : 01.07.1954 - 02.07.1956
  • डॉ. वी.एस. झा : 03.07.1956 - 16.04.1960
  • एन.एच. भगवती : 16.04.1960 - 15.04.1966
  • डॉ. त्रिगुणा सेन : 09.10.1966 - 15.03.1967
  • डॉ. ए.सी. जोशी : 01.09.1967 - 31.07.1969
  • डॉ. के.एल. श्रीमाली : 01.11.1969 - 31.01.1977
  • डॉ. एम. एल. धार : 02.02.1977 - 15.12.1977
  • डॉ. हरि नारायण : 15.05.1978 - 14.05.1981
  • प्रोफेसर इकबाल नारायण : 19.10.1981 - 29.04.1985
  • प्रोफेसर आर.पी. रस्तोगी : 30.04.1985 - 29.04.1991
  • प्रोफेसर सी.एस. झा : 01.05.1991 - 14.06.1993
  • प्रोफेसर डी. एन. मिश्रा : 08.02.1994 - 27.06.1995
  • डॉ. हरि गौतम : 02.08.1995 - 25.08.1998
  • प्रोफेसर वाई.सी. सिम्हाद्री : 31.08.1998 - 20.02.2002
  • प्रोफेसर पी. रामचंद्र राव : 20.02.2002 - 19.02.2005
  • प्रोफेसर पंजाब सिंह : 03.05.2005 - 07.05.2008
  • प्रोफेसर डी.पी. सिंह : 08.05.2008 - 21.08.2011
  • पद्मश्री डॉ. लालजी सिंह : 22.08.2011 - 22.08.2014
  • प्रोफेसर गिरीश चंद्र त्रिपाठी : 27.11.2014 - 27.11.2017
  • प्रोफेसर राकेश भटनागर : 28.03.2018 - 28.03.2021
खबरें और भी हैं...