पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रसूख के दबाव में वाराणसी पुलिस:बरेली के SDM का बेटा नीली बत्ती कार में लगाकर घूमता मिला, पुलिस ने माफीनामा लिखवाकर छोड़ा

वाराणसी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दरोगा एसडीएम के बेटे को थाने लेकर गया। अफसरों के आने लगे फोन तो चालान कर छोड़ा। - Dainik Bhaskar
दरोगा एसडीएम के बेटे को थाने लेकर गया। अफसरों के आने लगे फोन तो चालान कर छोड़ा।

उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में तैनात एसडीएम कमलेश कुमार सिंह के बेटे का कार में अवैध तरीके से नीली बत्ती लगाकर घूमने का मामला प्रकाश में आया है। वाराणसी में दरोगा के पकड़े जाने के बावजूद युवक पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। मामला तूल पकड़ते ही पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर और सोशल एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने वाराणसी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से शिकायत की।

शुक्रवार को ठाकुर दंपति ने बताया कि लाल-नीली बत्ती का अवैध प्रयोग गंभीर अपराध है। इसके बावजूद पुलिस ने सिर्फ माफीनामा लिखवा कर और सामान्य सा चालान काटकर आरोपी को छोड़ दिया। पुलिस ने यह काम एसडीएम कमलेश कुमार सिंह के रसूख के दबाव में आकर किया है। तत्काल आरोपी एसडीएम के बेटे सूर्य कुमार रघुवंशी के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए।

15 जून की रात की है घटना
दरअसल, वाराणसी के चोलापुर थाना के रौना खुर्द गांव निवासी सूर्य कुमार पुत्र एसडीएम कमलेश कुमार सिंह बीती 15 जून की रात सिंधोरा थाना क्षेत्र में नीली बत्ती लगी कार से किसी रिश्तेदार के साथ जा रहा था। रात को गश्त पर निकले सिंधोरा थाने के दरोगा हरिकेश सिंह ने कार को रोका। बताया जा रहा है कि पहले तो सूर्य ने दरोगा को खुद को एसडीएम बताते हुए अर्दब में लेने का प्रयास किया। दरोगा की सख्ती देख सूर्य कुमार ने बताया कि उसके पिता कमलेश कुमार सिंह बरेली में एसडीएम हैं। कार उसके मामा के नाम है। पुलिस सूर्य कुमार को कार के साथ सिंधोरा थाने ले गई।

पुलिस द्वारा सामान्य आरोप में एसडीएम के बेटे का किया गया चालान।
पुलिस द्वारा सामान्य आरोप में एसडीएम के बेटे का किया गया चालान।

अफसरों के आने लगे फोन, चालान कर छोड़ा
थाने में अफसरों के फोन आने शुरू हो गए। पुलिस ने नीली बत्ती उतरवा कर आरोपी सूर्य को सौंप दी गई। 16 जून को आरोपी सूर्य कुमार ने एसडीएम पिंडरा से शिकायत भी की। उसने कहा कि दरोगा हरिकेश सिंह ने उसके साथ सिंधोरा थाने में मारपीट कर घंटों अकारण ही बैठाए रखा। इस पर एसडीएम पिंडरा ने सीओ पिंडरा को जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया।

बरेली के एसडीएम के बेटे द्वारा लिखा गया माफीनामा।
बरेली के एसडीएम के बेटे द्वारा लिखा गया माफीनामा।

नीली बत्ती की बात छिपाई, डीएल और इंश्योरेंस पेपर न होने के आरोप में किया चालान
अमिताभ ठाकुर और डॉ. नूतन ठाकुर ने आरोपी सूर्य कुमार का माफीनामा और चालान की रसीद वाराणसी के पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को भेजी है। ठाकुर दंपति का कहना है कि जब वाहन में अवैध तरीके से नीली बत्ती लगी थी तो चालान डीएल और इंश्योरेंस पेपर न होने के आरोप में क्यों चालान किया गया। उन्होंने एसपी ग्रामीण से मांग की है कि तथ्यों एवं साक्ष्यों के क्रम में आरोपी सूर्य कुमार और उसे छोड़ने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ नियमानुसार वैधानिक कार्रवाई की जाए। एसडीएम बरेली कमलेश कुमार सिंह के उच्चाधिकारियों को भी इस घटना से अवगत कराया जाए। साथ ही आगाह कराया जाए कि भविष्य में ऐसी चूक न होने पाए। उधर, इस संबंध में एसपी ग्रामीण अमित वर्मा ने बताया कि मामले की जांच करा कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...