फर्जी TTE पकड़ा गया:औड़िहार और वाराणसी सिटी स्टेशन के बीच धराया जालसाज, दादर एक्सप्रेस ट्रेन में था सवार; GRP को सौंपा गया

वाराणसीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गोरखपुर-दादर स्पेशल ट्रेन से पकड़ा गया फर्जी टीटीई। - Dainik Bhaskar
गोरखपुर-दादर स्पेशल ट्रेन से पकड़ा गया फर्जी टीटीई।

औड़िहार और वाराणसी सिटी रेलवे स्टेशन के बीच शुक्रवार को गोरखपुर-दादर स्पेशल ट्रेन से एक फर्जी TTE पकड़ा गया। आरोपी की शिनाख्त गाजीपुर जिले के दुल्लहपुर थाना अंतर्गत मटुकपुर निवासी जितेंद्र कुमार के तौर पर हुई है। आरोपी के पास से TTE का फर्जी परिचय पत्र, आधार कार्ड और रेलवे से जुड़े अन्य कागजात बरामद हुए हैं। फिलहाल उससे सिटी रेलवे स्टेशन पर पूछताछ जारी है। आगे की कार्रवाई राजकीय रेल पुलिस (GRP) की ओर से की जाएगी।

ट्रेन में सवार होने की सूचना मिली थी

गोरखपुर-दादर स्पेशल ट्रेन में रेलवे सुरक्षा बल, वाराणसी सिटी के इंस्पेक्टर संजय कुमार सिंह और मुख्य वाणिज्य निरीक्षक असित कुमार घोष की देखरेख में टिकट जांच स्क्वॉड सवार हुआ था। टीम को फर्जी TTE के ट्रेन में सवार होने की सूचना मिली थी। औड़िहार से वाराणसी सिटी स्टेशन के बीच जितेंद्र को पकड़ कर उससे पूछताछ की गई तो उसका भेद खुला। इसके बाद उसे वाराणसी सिटी स्टेशन पर उतार कर रेलवे सुरक्षा बल के जवानों ने GRP को सौंप दिया।

पहले कोशिश किया अर्दब में लेने की

टिकट जांच स्क्वॉड के सदस्यों ने बताया कि पहले तो जितेंद्र कुमार ने उन्हें ही अर्दब में लेने की कोशिश की। साथ ही यह भी धमकी दिया कि काम के दौरान बेवजह परेशान करने की शिकायत वह उच्चाधिकारियों से करेगा। हालांकि जांच स्क्वॉड की सख्ती के आगे वह टूट गया। युवक ने बताया कि वह गाजीपुर के किसी भी स्टेशन से ट्रेन में सवार होकर रोजाना वाराणसी आता-जाता है। ट्रेन में सफर करने वाले ग्रामीण पृष्ठभूमि के भोलेभाले यात्रियों पर धौंस जमाकर वह उनसे जबरन वसूली करता था। उसे नहीं पता था कि उसकी करतूत पर रेलवे सुरक्षा बल और जांच स्क्वॉड की नजर है।

रेल अफसरों ने बताया कि आरोपी को पकड़ने में वरिष्ठ टिकट परीक्षक राकेश कुमार, उप मुख्य टिकट निरीक्षक सुनील कुमार सिंह, मुख्य टिकट निरीक्षक मारुफ खां, उप मुख्य टिकट निरीक्षक नौशाद खां और रेलवे सुरक्षा बल के हेड कांस्टेबल के नंदलाल व कांस्टेबल अजीत कुमार दास की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

खबरें और भी हैं...