अधेड़ ने फांसी लगाकर जान दी:अहमदाबाद से वाराणसी अपने घर आया था, बेटी की तय करनी थी शादी

वाराणसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

वाराणसी के रैसीपुर गांव निवासी लोकनाथ उर्फ रमेश (47) ने अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी। रात में परिजन जब खाना देने कमरे में गए तो उनकी आंख खुली की खुली रह गई। परिजनों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं लोकनाथ के आत्महत्या की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी है। ग्रामीणों के बीच चर्चा थी कि लोकनाथ शराब पीने का आदी था। इसलिए हो सकता है कि अवसादग्रस्त होकर उसने आत्मघाती कदम उठाया हो।

2 माह पहले बेटी-बेटे के साथ आया था घर
जंसा थाना अंतर्गत रैसीपुर गांव निवासी लोकनाथ अहमदाबाद की एक फैक्ट्री में काम करता था। उसकी पत्नी चमेला देवी अपनी बड़ी बेटी के साथ अहमदाबाद में रहती हैं। वहीं, एक बेटी और एक बेटे के साथ लोकनाथ लगभग 2 माह पूर्व घर आया था। परिजनों के अनुसार लोकनाथ इस बार अपनी बड़ी बेटी की शादी तय करने के लिए घर आया था। मंगलवार को लोकनाथ की बेटी और बेटा बर्थडे पार्टी में गए हुए थे।

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा

परिजनों ने बताया कि लोकनाथ दरवाजा बंद करके घर पर ही था। रात में उसे खाना देने के लिए दरवाजा खटखटाए तो नहीं खुला। दरवाजा तोड़ने पर अंदर साड़ी के फंदे के सहारे लोकनाथ का शव लटकता मिला। उधर, घटना के संबंध में जंसा थाना प्रभारी ने बताया कि परिजन आत्महत्या की कोई ठोस वजह नहीं बता पाए। सूचना के आधार पर पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है। परिजन तहरीर देंगे तो जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।