पुलिस का छापा:लॉकडाउन के बीच वाराणसी में चल रहा था हुक्का बार, चार गिरफ्तार और कई भागे

वाराणसी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छापेमारी में तलाशी लेती पुलिस। - Dainik Bhaskar
छापेमारी में तलाशी लेती पुलिस।

कोरोना वायरस और लॉकडाउन के बीच वाराणसी की संत रघुवर कॉलोनी में कानून की धज्जियां उड़ाते हुए हुक्का बार संचालित किया जा रहा था। शनिवार की रात पुलिस एक कैफे के बाहर भीड़ देख कर छापा मारी की तो मामले का खुलासा हुआ। हुक्का बार से चार लोगों को पकड़कर उनके खिलाफ सिगरा थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके साथ ही जो लोग पुलिस को देखकर भाग गए उनकी तलाश की जा रही है।

भीड़ देख कर पहुंची पुलिस और लोग हुक्का पीते दिखे

सिगरा थाने के कार्यवाहक प्रभारी इंस्पेक्टर अनूप शुक्ला और दरोगा शिवानंद सिसोदिया नगर निगम के समीप आने-जाने वालों से पूछताछ कर रहे थे। इसी बीच इंस्पेक्टर अनूप और दरोगा शिवानंद पैदल गश्त करते हुए रघुवर नगर कॉलोनी पहुंचे तो वहां जॉम्बीज कैफे के सामने भीड़ दिखी। इसे देखते हुए पुलिस ने कैफे में छापा मारा तो वहां लोग हुक्का पी रहे थे।

पुलिस को देख कर युवक-युवतियां और किशोर-किशोरियां बाहर भागने लगे। पुलिस ने कैफे से सिगरा निवासी जतिन उर्फ लकी श्रीवास्तव, छित्तूपुर के यस जगदाले, कटेहर के अल्तमस अंसारी और चौकाघाट पियरिया के अन्नू पाल पकड़े गए। इसके साथ ही मौके से दो बड़े हुक्का, छोटा हुक्का और कई अन्य सामग्रियों को जब्त किया गया।

जो भाग निकले हैं उन्हें भी कर रहे चिन्हित, लाइसेंस कराएंगे निरस्त

इंस्पेक्टर अनूप ने बताया कि गिरफ्त में आए चारों लोगों के खिलाफ महामारी अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। कैफे से कुछ लोग भाग निकले हैं, उन्हें भी चिन्हित कर हर हाल में पकड़ा जाएगा। कैफे की वीडियोग्राफी कराई गई है, कोई भी कार्रवाई से बच नहीं पाएगा। इसके साथ ही कैफे का लाइसेंस निरस्त करने के लिए जिला प्रशासन को अलग से एक रिपोर्ट रविवार को हमारी ओर से भेजी जाएगी।