रिंग रोड पर ट्रक चालक से लूटपाट:वाराणसी में मालवाहक का गेट न खोलने पर फायरिंग का आरोप, असलहे की मुठिया से वार करने की शिकायत

वाराणसी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चालक ने बताया था कि बदमाशों ने उसके सिर पर असलहे की मुठिया से वार कर उसे घायल कर दिया था। - Dainik Bhaskar
चालक ने बताया था कि बदमाशों ने उसके सिर पर असलहे की मुठिया से वार कर उसे घायल कर दिया था।

वाराणसी के लोहरापुर गांव के सामने रिंग रोड पर ट्रक लेकर खड़े चालक ने रविवार को फायरिंग कर रुपए और मोबाइल लूटने का आरोप लगाया। ट्रक चालक के अनुसार बदमाशों ने उसके सिर पर असलहे की मुठिया से वार किया और दो खलासियों के साथ भी जमकर मारपीट की। बदमाशों के डर से वह और दोनों खलासी रात भर ट्रक में ही छुपे रहे। रविवार को जब सड़क पर उन्हें ग्रामीण दिखाई देने लगे तो तीनों लोहता थाने शिकायत करने गए।

चालक के अनुसार बदमाशों ने ट्रक का गेट न खोलने पर फायरिंग की थी। असलहे से निकली गोली ट्रक के आगे के शीशे को पार करते हुए पीछे सीट में जा धंसी।
चालक के अनुसार बदमाशों ने ट्रक का गेट न खोलने पर फायरिंग की थी। असलहे से निकली गोली ट्रक के आगे के शीशे को पार करते हुए पीछे सीट में जा धंसी।

मिर्जापुर से गिट्‌टी लेकर जा रहे थे आजमगढ़

आजमगढ़ के सैदवारा निवासी मनोज सिंह का ट्रक राजेश यादव चलाता है। खलासी पंकज व रुस्तम के साथ राजेश मिर्जापुर में ट्रक में गिट्‌टी लाद कर शनिवार को आजमगढ़ के लिए चला। लोहराडीह गांव के सामने रिंग रोड पर ट्रक खराब हो गया तो तीनों वहीं रुक गए। राजेश के अनुसार, रात 2 बजे के बाद बाइक सवार 3 लोग आए और ट्रक का गेट पीटने लगे। अनहोनी की आशंका से तीनों ने गेट नहीं खोला तो एक ने ट्रक के आगे के शीशे पर फायरिंग कर दी। असलहे से निकली गोली उसकी पीछे की सीट पर जा लगी और वह बाल-बाल बच गया।

राजेश ने बताया कि फायरिंग के बाद वह गेट खोला तो एक बदमाश ने असलहे की मुठिया से उसके सिर पर वार कर दिया। इसके बाद उसके पास मौजूद 4 हजार रुपए और स्मार्ट फोन बदमाशों ने लूट लिया। बदमाशों ने और पैसा देने को कहा। साथ ही उन्होंने पंकज और रुस्तम की भी पिटाई की। इसके बाद तीनों सफेद रंग की अपाचे बाइक से भाग निकले।

जागते हुए तीनों ने गुजार दी रात

राजेश ने बताया कि बदमाशों की करतूत से तीनों इतना डर गए थे कि फिर उन्हें नींद ही नहीं आई। सुबह हुई तो वे लोग चहल-पहल होने का इंतजार करने लगे। घटनास्थल के समीप ही एक चाय की दुकान खुली तो वह जाकर आपबीती सुनाया और लोहता थाने का रास्ता पूछा। उधर, लोहता थाना प्रभारी विश्वनाथ प्रताप सिंह ने कहा कि गाड़ी खड़ा करने को लेकनर आपसी मारपीट का मामला है। फायरिंग का मामला नहीं है। ड्राइवर की तहरीर के आधार पर वास्तविक घटना के अनुसार मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

खबरें और भी हैं...