पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आंदोलन का समर्थन:वाराणसी में किसानों ने कृषि कानून की प्रतियां जलाई, केंद्र सरकार का पुतला भी फूंका

वाराणसी5 महीने पहले
प्रदर्शन में महिलाएं भी शामिल थी। 
  • आंदोलनकारी किसानों पर से फर्जी मुकदमे वापस लेने की माँग

किसान आंदोलन के समर्थन में शुक्रवार को आदर्श ग्राम नागेपुर के सामाजिक संस्था लोक समिति के बैनर तले किसानों और ग्रामीणों ने सरकार के पुतले को लेकर रैली निकाला। धरना प्रदर्शन कर आखिर में केंद्र सरकार का पुतला और कृषि कानून की प्रतियों को फूंका। किसानों की मांग है कि काला कानून जल्द से जल्द खत्म किया जाए।

कृषि कानून की प्रतियों को आग के हवाले किया

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे लोक समिति के संयोजक नन्दलाल मास्टर ने कहा है कि आक्रोशित किसानों ने किसान विरोधी सरकार का पुतला और नये कृषि कानून की प्रतियां जलाकर काशी से विरोध जताया है। उन्होंने कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग की। साथ ही चेतावनी दी कि यदि कृषि कानून निरस्त नहीं किया गया तो उनका आंदोलन इसी तरह जारी रहेगा।

किसान नंदू ने कहा हम केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीनों किसान विरोधी कानूनों का विरोध करते हैं। सरकार द्वारा दिल्ली जा रहे किसान नेताओं पर फर्जी कार्रवाई कई स्थानों पर की गयी, जो निंदनीय है। गणतंत्र दिवस पर उपद्रवियों ने किसानों को बदनाम किया है। सीबीआई जांच कर उपद्रवियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।