शराब पीकर विवाद हुआ तो गला कस कर मार डाला:वाराणसी में नारियल पानी विक्रेता का मर्डर, सुलभ शौचालय का केयर टेकर गिरफ्तार

वाराणसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया हत्या का आरोपी राजेंद्र। (लाल घेरे में) - Dainik Bhaskar
पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया हत्या का आरोपी राजेंद्र। (लाल घेरे में)

वाराणसी के न्यू कॉलोनी ककरमत्ता निवासी नारियल पानी विक्रेता रामसजीवन जायसवाल उर्फ झप्पू (38) की हत्या कर उसका शव भिखारीपुर स्थित हाईडिल के समीप सुलभ शौचालय के पीछे फेंक दिया गया। रामसजीवन के सिर पर ईंट से वार करने के साथ ही उसका गला कस कर उसकी हत्या की गई है।

स्थानीय लोगों की सूचना के आधार पर मंगलवार की सुबह फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम के साथ चितईपुर थाना प्रभारी मिर्जा रिजवान बेग घटनास्थल पर पहुंचे। परिजनों ने शौचालय के केयर टेकर सरायनंदन खोजवां निवासी विजय कुमार गुप्ता पर पुराने विवाद में रामसजीवन की हत्या का आरोप लगाया। चितईपुर थाने की पुलिस ने शौचालय के केयर टेकर को गिरफ्तार कर लिया है।

रामसजीवन जायसवाल। (फाइल फोटो)
रामसजीवन जायसवाल। (फाइल फोटो)

केयर टेकर से आए दिन होता था विवाद

चितईपुर थाना अंतर्गत भिखारीपुर स्थित हाईडिल के समीप सुलभ शौचालय के बगल में चाय की गुमटी है। मंगलवार को चाय दुकानदार अपनी गुमटी खोलने पहुंचा तो उसने पीछे की ओर रामसजीवन का शव पड़ा देखा। आनन-फानन चाय दुकानदार ने पुलिस को सूचना दी। थोड़ी ही देर में रामसजीवन के परिजन भी घटनास्थल पर पहुंच गए। परिजनों ने बताया कि रामसजीवन सुलभ शौचालय के सामने ही सड़क किनारे नारियल पानी बेचता था।

रामसजीवन और सुलभ शौचालय के केयर टेकर के बीच आए दिन कहासुनी होती रहती थी। इसलिए आशंका है कि शौचालय के केयर टेकर ने ही खुन्नस में रामसजीवन के सिर पर किसी वजनी वस्तु से वार कर उसकी हत्या कर दी है। परिजनों ने कहा कि पुलिस शौचालय के केयर टेकर से कड़ाई से पूछताछ करे तो सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा।

नारियल पानी विक्रेता की हत्या के बाद घटनास्थल पर फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम के साथ पुलिसकर्मी।
नारियल पानी विक्रेता की हत्या के बाद घटनास्थल पर फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम के साथ पुलिसकर्मी।

हमेशा इकट्‌ठा रहते हैं नशेड़ी और जुआरी

सुलभ शौचालय के समीप ही भिखारीपुर पोखरा भी है। स्थानीय लोगों ने बताया कि पोखरे के पास सुबह से लेकर देर रात तक नशेड़ियों और जुआरियों का जमावड़ा लगा रहता है। इसके चलते आसपास रहने वाले लोगों और खासतौर से महिलाओं को तमाम तरह की दिक्कतें होती हैं। पुलिस इसी रास्ते से आती और जाती है लेकिन कभी गंभीरता से ध्यान देकर नशेड़ियों और जुआरियों पर कार्रवाई नहीं करती है। हो सकता है कि रामसजीवन की हत्या भी नशे के बाद हुए विवाद का परिणाम हो।

हम और हमारे बच्चे अब कैसे रहेंगे

रामसजीवन के छोटे भाई दीपक ने बताया कि उसके भैया के 4 बच्चे हैं। बताया कि रामसजीवन नारियल पानी बेचने के साथ ही ऑटो भी चलाता था। ठंड के कारण इधर उसकी नारियल की दुकान बंद थी, लेकिन वह रोजाना भिखारीपुर आता-जाता रहता था। वहीं, परिजनों के साथ घटनास्थल पर पहुंची रामसजीवन की पत्नी लक्ष्मी देवी पति का लहूलुहान शव देख कर जमीन पर गिर पड़ी। परिजन लक्ष्मी देवी को बड़ी ही मुश्किल से संभाले हुए थे। वह बार-बार यही कह रही थी कि अब हम और हमारे बच्चे कैसे रहेंगे...? हमारी और हमारे बच्चों की गुजर-बसर कैसे होगी...?

रामसजीवन की हत्या के बाद घटनास्थल पर उमड़ी लोगों की भीड़।
रामसजीवन की हत्या के बाद घटनास्थल पर उमड़ी लोगों की भीड़।

दोनों शराब पीकर झगड़ा करते थे

डीसीपी वरुणा जोन रामसेवक गौतम ने बताया कि रामसजीवन नारियल पानी बेचने के साथ ही ऑटो भी चलाता था। उसके परिजन सुलभ शौचालय के केयर टेकर पर हत्या का आरोप लगाए हैं। शौचालय के केयर टेकर विजय कुमार गुप्ता के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कर उससे पूछताछ की गई।

पूछताछ में यही सामने आया कि शराब पीने के बाद विजय और रामसजीवन के बीच अकसर विवाद होता था। सोमवार की रात भी दोनों के बीच विवाद हुआ और मारपीट शुरू हो गई। मारपीट के दौरान ही विजय ने रामसजीवन के सिर पर ईंट से वार करने के बाद अपने गमछे से उसका गला कस कर उसकी हत्या कर दी। विजय का गमछा भी घटनास्थल से ही मिला है। पूछताछ की प्रक्रिया पूरी कर उसे अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया है।

खबरें और भी हैं...