पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वाराणसी में CM योगी:सीएम के सर्किट हाउस पहुंचने से पहले धरने पर बैठ गए लोग, कहा- 20 साल हो गए प्राधिकारण ने नहीं दिया उचित मुआवज़ा

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाथी बाजार सीएचसी का सीएम ने किया निरीक्षण। - Dainik Bhaskar
हाथी बाजार सीएचसी का सीएम ने किया निरीक्षण।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार की शाम बलिया से वाराणसी पहुंचे। सबसे पहले वो अपने गोद लिए हुए हाथी बाजार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण करने पहुंचे थे। बाद में जब वो सर्किट हाउस पहुंचे तो उससे पहले सर्किट हाउस के बाहर कुछ लोग मुआवज़े की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए।

सर्किट हाउस पहुंचने से पहले मुआवजे के लिए धरने पर बैठे लोग

मुख्यमंत्री के सर्किट हाउस आगमन से पहले उसके सामने कुछ लोग मुआवजा देने की मांग संबंधी तख्ती लेकर धरने पर बैठ गए। उनका कहना था कि 20 वर्ष पूर्व वाराणसी विकास प्राधिकरण द्वारा हबीबपुरा में उनकी जमीन अधिग्रहीत की गई थी। उसका उचित मुआवजा आज तक नहीं मिला। सभी का कहना था कि मुख्यमंत्री उन्हें उनका उचित मुआवजा दिलाएं।

मुख्यमंत्री के आगमन से पहले सर्किट हाउस के सामने लोगों को मुआवजे के लिए धरने पर बैठे देख पुलिस और प्रशासन के अफसरों के हाथ-पांव फूलने लगे। आनन-फानन अपर नगर मजिस्ट्रेट ने सभी का ज्ञापन लेकर मुख्यमंत्री तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। इसके बाद सभी को उनके घर भेज दिया गया।

मुआवजे की मांग लेकर सर्किट हाउस के सामने पहुंचे लोगोें से ज्ञापन लेते अधिकारी।
मुआवजे की मांग लेकर सर्किट हाउस के सामने पहुंचे लोगोें से ज्ञापन लेते अधिकारी।

सबसे पहले सीएचसी का किया निरीक्षण

वाराणसी पहुंचने के साथ ही वह सबसे पहले शहर से 18 किलोमीटर दूर अपने गोद लिए हुए हाथी बाजार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण करने पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हाथी बाजार सीएचसी को सर्वसुविधा संपन्न अस्पताल बनाया जाए। अस्पताल में ऐसी व्यवस्था हो कि इस इलाके के ग्रामीणों को शहर के अस्पतालों की ओर रुख न करना पड़े। इसी तरह से जिले के ग्रामीण इलाकों के अन्य सरकारी अस्पतालों को भी अपग्रेड किया जाए।

अधिकारियों ने बताया कैसे दुरुस्त करेंगे सिस्टम

इस दौरान जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा और सीएमओ डॉ. वीबी सिंह ने उन्हें अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं, संसाधनों और स्टाफ की जानकारी देने के साथ ही यह भी बताया कि भविष्य में इसे कैसे अपग्रेड किया जाएगा। अस्पताल के निरीक्षण के बाद मुख्यमंत्री सर्किट हाउस के लिए रवाना हो गए। वाराणसी में निर्माणाधीन विभिन्न परियोजनाओं के साथ ही मुख्यमंत्री अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।

हाथी बाजार सीएचसी से वाराणसी जीते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।
हाथी बाजार सीएचसी से वाराणसी जीते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

पीएसची से रेफर होकर मरीज आ सकेंगे हाथी बाजार सीएचसी

हाथी बाजार सीएचसी को ऑक्सीजन प्लांट की सुविधा से लैस किया जा रहा है। सीएमओ डॉ. वीबी सिंह ने बताया कि अब इस स्वास्थ्य केंद्र की क्षमता 50 बेड की होगी। इनमें से 15 बेड बच्चों के लिए होंगे। इस अस्पताल फर्स्ट रेफरल यूनिट का दर्जा देने की भी कवायद शुरू कर दी गई है। इस अस्पताल में आस-पास के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और उप केंद्रों से रेफर होकर मरीज उपचार के लिए आ सकेंगे। अस्पतल में ऑपरेशन थिएटर, पैथालॉजी, लेबर रूम, रेडिएंट वार्मर और अत्याधुनिक चिकित्सकीय उपकरण उपलब्ध हैं। अस्पताल को मॉडल सीएचसी के तौर पर विकसित करने का प्रयास किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...