• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • Irani Gang's Helper Arrested Bhopal's Garage Owner, Police Of Varanasi Commissionerate Caught A Crook Of 25 Thousand Prize; Was Being Searched For 6 Months

ईरानी गैंग का मददगार लखनऊ से गिरफ्तार:25 हजार का इनामी बदमाश था, वाराणसी की पुलिस ने पकड़ा

वाराणसी2 महीने पहले
वाराणसी कमिश्नरेट की पुलिस ने 25 हजार के इनामी बदमाश अमजद को लखनऊ से गिरफ्तार किया है।

लूटपाट के लिए कुख्यात अंतरराज्यीय ईरानी गिरोह के मददगार और उन्हें वाहन उपलब्ध कराने वाले 25 हजार रुपए के इनामी बदमाश को वाराणसी कमिश्नरेट की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बदमाश की शिनाख्त मध्य प्रदेश के भोपाल स्थित गिन्नौरी रोड निवासी मोहम्मद अमजद के तौर पर हुई है। अमजद को रविवार को अदालत में पेश किया गया जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में जिला जेल भेज दिया गया।

6 महीने पहले हुई थी 8 लाख रुपए की लूट

वाराणसी के चौक क्षेत्र में बीती 24 मार्च को गाजीपुर जिले के दिलदारनगर निवासी व्यापारी तबरेज अहमद से बदमाशों ने 8 लाख रुपए लूट लिए थे। अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने पड़ताल शुरू की तो ईरानी गिरोह के 6 बदमाश पकड़े गए थे। उनके पास से लूट के 7,37,000 रुपए बरामद हुए थे।

पुलिस की पूछताछ में अमजद ने बताया कि ईरानी गैंग के 6 बदमाशों के पकड़े जाने पर वह भोपाल में अंडर ग्राउंड हो गया था।
पुलिस की पूछताछ में अमजद ने बताया कि ईरानी गैंग के 6 बदमाशों के पकड़े जाने पर वह भोपाल में अंडर ग्राउंड हो गया था।

डीसीपी काशी जोन आरएस गौतम ने बताया कि बदमाशों ने पूछताछ में स्वीकार किया था कि उनसे रुपए लेकर लूटपाट के लिए उन्हें वाहन मोहम्मद अमजद उपलब्ध कराता है। अमजद की तलाश शुरू हुई और इंस्पेक्टर चौक शिवाकांत मिश्र के नेतृत्व में दालमंडी चौकी प्रभारी अजय कुमार व पियरी चौकी प्रभारी प्रीतम तिवारी और हेड कांस्टेबल पुनदेव सिंह की टीम ने उसे लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया।

भोपाल में केवी मोटर्स है फर्म का नाम

पुलिस की पूछताछ में अमजद ने बताया कि भोपाल में केवी मोटर्स के नाम से उसकी फर्म है। वह वाहनों की मरम्मत के साथ ही उन्हें खरीदने और बेचने का काम भी करता है। वाराणसी में हुई लूट के लिए उसने ईरानी गैंग के बदमाशों को ट्रवेरा गाड़ी उपलब्ध कराई थी।

ईरानी गैंग के बदमाश पकड़े गए थे तो वह भोपाल में अंडर ग्राउंड हो गया था। उसके बाद अपने परिचितों के यहां छुप कर रह रहा था। इन दिनों वह लखनऊ में था। इसी बीच न जाने कैसे उसके बारे में सटीक सूचना पुलिस को मिल गई और वह पकड़ा गया।

खबरें और भी हैं...