BHU में मधेशी छात्रों का सरकार के खिलाफ प्रदर्शन:नेपाली संविधान को छह साल पूरे होने पर मनाया काला दिवस, सरकार और संविधान को बताया मधेशियों के खिलाफ

वाराणसी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आज नेपाली संविधान को पारित हुए 6 साल हो गए, मगर मधेशियों को नहीं मिला बराबरी का दर्जा। इसे देखते हुए BHU में विरोध करते छात्र। - Dainik Bhaskar
आज नेपाली संविधान को पारित हुए 6 साल हो गए, मगर मधेशियों को नहीं मिला बराबरी का दर्जा। इसे देखते हुए BHU में विरोध करते छात्र।

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) में रविवार को नेपाल के मधेशी छात्रों ने नेपाल सरकार और संविधान के विरोध में प्रदर्शन किया। BHU के सेंट्रल ऑफिस के बाहर प्रदर्शन करते हुए दर्जन भर मधेशी छात्रों ने नेपाल सरकार और संविधान को अन्यायपूर्ण बताया। वर्ष 2015 में आज ही के दिन नेपाल में संविधान पारित किया गया था। नेपाली छात्रों ने कहा कि सरकार आज मौखिक तौर पर मधेशियों से बात तो कर रही है, लेकिन उनकी समस्याओं का समाधान नहीं दे पा रही है। इसकी सबसे बड़ी वजह पक्षपात पूर्ण नेपाली संविधान है जिसे तुरंत बदला जाए। प्रदर्शनकारी छात्रों ने सरकार से मधेशियों को पूरे अधिकार देने की मांग की।

नेपाल की सरकार के खिलाफ आवाज उठाता कृषि विज्ञान संस्थान का 1 शोध छात्र।
नेपाल की सरकार के खिलाफ आवाज उठाता कृषि विज्ञान संस्थान का 1 शोध छात्र।

तख्ती और पोस्टर के साथ मनाया काला दिवस

छात्रों ने प्रदर्शन के दौरान हाथ में तख्ती और पोस्टर के साथ काला दिवस भी मनाया। उन्होंने कहा कि नेपाल सरकार जल्द से जल्द अपने संविधान में हमारी मांगाें को शुमार करे नहीं तो वे बड़े आंदोलन की तरफ बढ़ेंगे। छात्रों ने करीब 2 घंटे तक लगातार चले आंदाेलन के बाद एक ज्ञापन भी जारी किया। इसमें नेपाल सरकार को कई सुझाव दिए गए हैं। इनमें शिक्षा से लेकर कोर्ट जाने तक का अधिकार देने की मांग की गई है।

खबरें और भी हैं...