पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Mafia Mukhtar Captured The Land Of Thakur Ji's Temple, Udayalal Gandhi Fought For Five Years; Property Worth 24 Crores Attached

मऊ में डॉन V/S गांधी:माफिया मुख्तार अंसारी ने ठाकुर जी के मंदिर की जमीन पर कब्जा किया, उदयलाल गांधी 5 साल लड़े; 24 करोड़ की संपत्ति कुर्क करवा दी

मऊ/ गाजीपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उदयलाल ने मुख्तार का खुलकर विरोध किया और उसके गुर्गों से  भी भिड़ गए। - Dainik Bhaskar
उदयलाल ने मुख्तार का खुलकर विरोध किया और उसके गुर्गों से भी भिड़ गए।

बांदा जेल में बंद उत्तर प्रदेश के बाहुबली या यूं कहें डॉन मुख्तार अंसारी से कौन नहीं डरता। पुलिस से लेकर सियासत से जुड़े लोग तक कांपते हैं। आम लोगों की तो बात ही छोड़िए। लेकिन हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने न केवल मुख्तार को चुनौती दी, बल्कि हराकर भी दिखाया। ये शख्स आज के गांधी हैं। इनका नाम उदयलाल गांधी है। उदयलाल मऊ जनपद में सामाजिक काम करते हैं। इन्होंने न सिर्फ मुख्तार का खुलकर विरोध किया बल्कि उसके गुर्गों से भी भिड़े रहे। कई बार जान से मारने तक की धमकी मिली। लेकिन मुख्तार के अवैध और आपराधिक भय से बनाई गई संपत्ति के खिलाफ ये लड़ते रहे। डीएम, एसडीएम और जहां तक संभव हो सका शिकायत करते रहे।

इन्हीं कि शिकायत पर बुधवार को मुख्तार अंसारी की 24 करोड़ की संपत्ति सीज कर दी गई। यह वह जमीन है जिस पर मुख्तार अपना स्कूल खड़ा करवा रहा था। अंसारी पब्लिक स्कूल, जिसे पर अब प्रशासन ने सीज कर दिया है। इसी प्रकार गाजीपुर में भी मुख्तार की तकरीबन 146 करोड़ की संपत्ति कुर्क की गई है।

प्रशासन ने मुख्तार अंसारी के अवैध निर्माण को ध्वस्त करवा दिया।
प्रशासन ने मुख्तार अंसारी के अवैध निर्माण को ध्वस्त करवा दिया।

वर्ष 2016 से शुरू हुई मुख्तार से लड़ाई..

उदयलाल गांधी बताते हैं कि बात 2016 की है, मऊ में मुख्तार अंसारी ने लखनऊ-बलिया मार्ग पर अपनी अवैध कमाई से एक प्रॉपर्टी खरीदी। उसके बगल में ठाकुर जी संपत्ति भी थी। मुख्तार के गुर्गों ने उस प्रॉपर्टी पर कब्जा कर लिया। इसकी शिकायत मैंने जिलाधाकारी वैभव श्रीवास्तव से की, कोई सुनवाई नहीं हुई तो मैंने महीनों इस मामले को लेकर धरना दिया। इस बीच मुझे कई धमकियां मिलीं। लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी। मैं लड़ता रहा।

अंत में एक दिन तत्कालीन जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने मामले की जांच करवाई। इसके बाद वहां पर निर्माण कार्य रोक दिया गया। जांच में पता चला कि यह निर्माण कार्य अंसारी पब्लिक स्कूल के नाम से हो रहा था। पीछे की जमीन जो एक धार्मिक स्थान है उसे भी कब्जा कर लिया गया था। इसके बाद वर्ष 2017 में BJP सरकार बन गई।

प्रशासन ने सख्ती दिखानी शुरू की और लंबी जांच प्रक्रिया के बाद अब इस जमीन को सीज कर दिया गया है। यह योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई है, ये अपराधी लोग गरीबाें की जमीन औने-पौने दाम में या तो खरीदते हैं या कब्जा कर लेते हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ मैं हमेशा लड़ता रहूंगा।

स्कूल के नाम पर ली गई जमीन पर बन चुकी है मस्जिद

उदयलाल गांधी की शिकायत के बाद जब तत्कालीन जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने उक्त जमीन पर निर्माण कार्य रुकवाया तब तक वहां एक मस्जिद बन चुकी थी। यह मस्जिद अंसारी पब्लिक स्कूल के फ्रंट पर थी। बताया जाता है कि कि मस्जिद का निर्माण इसलिए कराया गया क्योंकि विदेशों से अर्थात मुस्लिम कंट्री से चंदा लिया जा सके।

मुस्लिम कंट्री किसी भी संस्था को मदद देने में यह शर्त रखते हैं कि स्कूल के फ्रंट पर मस्जिद होनी चाहिए। इसलिए सर्वप्रथम अंसारी बंधुओं ने स्कूल के मुख्य द्वार के बगल में एक मस्जिद का निर्माण कराया। सबसे महत्वपूर्ण बात है कि आज तक कोई भी यह नहीं बता पाया कि या कभी भी यह नहीं पता चल पाया कि कौन सी जमीन मुख्तार अंसारी व उनके परिवार के नाम पर है। लेकिन बिजली विभाग द्वारा लगाए गए मीटर ने सारी पोल खोल दी।

यह तस्वीर गाजीपुर की है जहां मुख्तार अंसारी के अवैध निर्माण पर सरकारी बुल्डोजर चलाया गया।
यह तस्वीर गाजीपुर की है जहां मुख्तार अंसारी के अवैध निर्माण पर सरकारी बुल्डोजर चलाया गया।

146 करोड़ की संपत्ति गाजीपुर में कुर्क की गई

  • गाजीपुर जिला प्रशासन ने सबसे पहले मुख्तार अंसारी गैंग के सक्रिय सदस्य भीम सिंह एवं उनके रिश्तेदार राहुल सिंह की अंधऊ एयरपोर्ट की सरकारी भूमि पर किए गए कब्जे को खाली कराते हुए 36 करोड़ 50 लाख रुपये की सरकारी संपत्ति को अवमुक्त कराया था।
  • शहर कोतवाली के हमीद सेतु के पास व गंगा नदी के ठीक किनारे करीब 80 करोड़ की लागत से बने मुख्तार के करीबी मोहम्मद आजम कादरी के शम्म-ए-हुसैनी अस्पताल को 80 फीसद ध्वस्त कर दिया गया।
  • नगर के महुआबाग में मुख्तार अंसारी की पत्नी अफ्शां अंसारी व उनके दोनों पुत्रों अब्बास व उमर अंसारी के नाम से संचालित गजल होटल के अवैध निर्माण पर कार्रवाई करते हुए 35 लाख की संपत्ति को ध्वस्त कर दिया गया।
  • मुख्तार के करीबी गणेशदत्त मिश्रा के नगर के श्रीराम कालोनी में बने चार करोड़ की लागत से बहुमंजिला मकान को जमींदोज किया जा चुका है।
  • मेहरुद्दीन उर्फ नन्हें खां द्वारा अवैध रूप से मंगई नदी पर बनाए गए अवैध पुल ध्वस्त करते हुए दो मंडा जमीन, एक बोलेरो को सीज करते हुए 53 लाख रुपये की संपत्ति को जब्त कराया।
  • इसके अलावा नगर कोतवाली के बबेड़ी में मुख्तार की पत्नी अफ्शां अंसारी के नाम एक करोड़ 94 लाख चार हजार रुपये की 0.538 हेक्टेयर भूमि कुर्क कर दिया गया।
  • फतेउल्लाहपुर में मेसर्स विकास कंस्ट्रशन (अफ्शां अंसरी, सरजील रजा व अनवर शहजाद) के नाम से 22 करोड़ 13 लाख 86 हजार रुपये की 4.1696 हेक्टेयर भूमि व रजदेपुर देहाती में अफशां अंसारी के पुत्र अब्बास अंसारी के नाम एक करोड़ 38 लाख 96 हजार 866 रुपये की 142.88 वर्ग मी. पर भवन को कुर्क की गई है।
खबरें और भी हैं...