ओम प्रकाश नहीं वह असलम राजभर हैं:वाराणसी में मंत्री अनिल राजभर बोले- सुभासपा अध्यक्ष मुख्तार अंसारी की राजनीति की दलाली कर रहे हैं

वाराणसी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अनिल राजभर, कैबिनेट मंत्री। - Dainik Bhaskar
अनिल राजभर, कैबिनेट मंत्री।

यूपी के कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने बुधवार को वाराणसी में सुहलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर पर जमकर निशाना साधा। अनिल राजभर ने भाषायी मर्यादा की परवाह न करते हुए कहा कि ओम प्रकाश राजभर आजकल मुख्तार अंसारी की राजनीति की दलाली कर रहे हैं। वह ओम प्रकाश राजभर नहीं असलम राजभर हैं।

असलम राजभर नाम हमने उसी दिन रख दिया था जिस दिन ओम प्रकाश राजभर ने सैयद सालार मसूद की मजार पर चादर चढ़ाई थी। ऐसा करके उन्होंने राष्ट्रवीर महाराज सुहलदेव राजभर के सम्मान के साथ समझौता किया था।

मऊ की रैली माफियाओं की ताकत की बदौलत थी

मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि समाजवादी पार्टी द्वारा प्रायोजित और मुख्तार अंसारी के संसाधनों की बदौलत अखिलेश यादव और असलम राजभर का कार्यक्रम मऊ में हुआ था। हमने उसी दिन आरोप लगाया था कि यह कार्यक्रम माफियाओं की ताकत की बदौलत किया जा रहा है। मंगलवार को बांदा जेल में मुख्तार अंसारी के पास असलम राजभर हिसाब-किताब देने गए थे और मेरी कही हुई बात भी प्रमाणित हो गई।

असलम राजभर कभी पिछड़ों का हार बनने का प्रयास करते हैं। समाज इनकी हरकतों का ऐसे ही तमाशा नहीं देख सकता। राजभर समाज मऊ की धरती से ही असलम राजभर जैसों को बेनकाब करेगा।

2022 के चुनाव में इन्हें घर बैठा दूंगा

अनिल राजभर ने कहा कि असलम राजभर कहां से चले थे और कहां पहुंच गए। हमने कहा है कि 2022 के चुनाव में इन्हें घर बैठा दूंगा। हमारे नेता और देश के गृह मंत्री अमित भाई शाह के आशीर्वाद से पहली बार भाजपा ने उन्हें विधानसभा पहुंचा दिया। दोबारा पहुंच कर दिखाएं तो हम मानें। अनिल राजभर ने कहा कि मऊ की रैली राजभर समाज को अपमानित करने के लिए की गई थी। समाज के सम्मानित राजभर समाज को मऊ की रैली से शराबी कह कर उनका अपमान किया गया और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ताली बजा रहे थे।

मऊ में राजभर समाज लामबंद होकर दिखाएगा

अनिल राजभर ने कहा कि मऊ में रैली करके ओम प्रकाश राजभर ने राजभर समाज को अपमानित और कलंकित किया था। उसका बदला लेने के लिए राजभर समाज मऊ में ही लामबंद होगा। पूरे देश और प्रदेश के राजभर समाज के लाखों लोग नवंबर महीने के आखिरी सप्ताह या दिसंबर महीने के पहले सप्ताह में मऊ में इकट्‌ठा होंगे। उस रैली में भाजपा के सभी बड़े नेता शामिल होंगे।

राजभर समाज एकजुट होकर यह दिखाएगा कि ओम प्रकाश राजभर की क्या हैसियत है। इस दौरान महंगाई के सवाल पर मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनता को राहत पहुंचाने के लिए सारे जतन कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गरीबी के बारे में नहीं सोचेंगे तो इस देश में भला और कौन उनके बारे में सोचने वाला है। विपक्ष पूरी ताकत लगा लेकिन 2022 में उत्तर प्रदेश की जनता भाजपा की सरकार में फिर से वापसी कराएगी।

खबरें और भी हैं...