वाराणसी में देव दीपावली:15 लाख दीयों से जगमगाए काशी के 84 घाट, रंगोली बनाकर दिया महिला सशक्तिकरण का संदेश

वाराणसी9 महीने पहले
काशी ने इस बार देव दीपावली पर अयोध्या का रिकार्ड तोड़ दिया।

काशी ने इस बार देव दीपावली पर अयोध्या का रिकार्ड तोड़ दिया। अयोध्या में दीपावली पर 12 लाख दीये जलाए गए थे। जबकि काशी में देव दीपावली के मौके पर 84 गंगा घाटों पर 15 लाख दीये जलाए गए। 2 लाख से ज्यादा लोग 84 घाटों पर पहुंचे। पर्यटकों ने गंगा में नौका की सवारी की। गंगा में छोटे से लेकर बड़े सभी नाव, स्टीमर और क्रूज पर पर्यटकों ने पार्टी की। सैम मानिक शॉ और अलकनंदा क्रूज की महंगी सवारी भी पर्यटकों को खूब पसंद आई। सबसे आकर्षित करने वाला दृश्य राज चेत सिंह घाट पर दिखा। यहां लेजर लाइट और साउंड से बाबा विश्वनाथ का तांडव नृत्य व काशी का अध्यात्म दिखाया गया। वहीं फायर बॉक्स से आसमान में आतिशबाजी की गई।

घाटों पर जुटने वाली भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए थे। नदी में गोताखोरों की तैनाती की गई थी। भीड़ को रोकने के लिए जगह-जगह बल्लियां लगाई गई थी। चेकिंग के बाद ही लोगों को घाटों की तरफ जाने की अनुमति दी जा रही थी।

इससे पहले दोपहर में काशी का आकाश सतरंगी हॉट बैलून से भर गया। तीर्थयात्रियों और पर्यटकों को हॉट एयर बैलून में 1 हजार फीट की ऊंचाई से काशी की छटा निहारने का मौका मिला। गंगा किनारे रेती पर आसमान में उड़ते हॉट एयर बैलून लोगों के आकर्षण का केंद्र बने रहे।

84 गंगा घाटों पर दीये जलने शुरू हो गए हैं।
84 गंगा घाटों पर दीये जलने शुरू हो गए हैं।
दीये जलाने का उत्साह खूब दिख रहा है। गंगा घाट पर दीपक जलाने महिलाएं भी पहुंची हैं।
दीये जलाने का उत्साह खूब दिख रहा है। गंगा घाट पर दीपक जलाने महिलाएं भी पहुंची हैं।
महिला सशक्तिकरण का संदेश देती रंगोली।
महिला सशक्तिकरण का संदेश देती रंगोली।
सभी दीये जलाने के लिए आतुर दिखाई दिए।
सभी दीये जलाने के लिए आतुर दिखाई दिए।
गंगा आरती देखने के लिए भी जमकर भीड़ जुटी।
गंगा आरती देखने के लिए भी जमकर भीड़ जुटी।
काशी में हर तरफ कार्तिक पूर्णिमा और देव दीपावली की धूम है।
काशी में हर तरफ कार्तिक पूर्णिमा और देव दीपावली की धूम है।
कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर गंगा घाट पर आज दूर-दूर से लोग स्नान करने पहुंचे हैं।
कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर गंगा घाट पर आज दूर-दूर से लोग स्नान करने पहुंचे हैं।
गंगा घाट पर प्रशासन की तरफ से सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।
गंगा घाट पर प्रशासन की तरफ से सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।
गंगा के दोनों तट पर 2 लाख से ज्यादा लोगों के पहुंचने की उम्मीद है।
गंगा के दोनों तट पर 2 लाख से ज्यादा लोगों के पहुंचने की उम्मीद है।
काशी में 15 लाख दीपक जलने के बाद अयोध्या से भी बड़ा रिकॉर्ड बना।
काशी में 15 लाख दीपक जलने के बाद अयोध्या से भी बड़ा रिकॉर्ड बना।

होटलों में जगह नहीं, एक भी नाव खाली नहीं
वर्ष 1986 में पंचगंगा घाट पर हजारा (एक हजार) दीये जलाकर शुरू हुई देव दीपावली का अब देश और दुनिया में एक अलग स्थान है। इसकी महत्ता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि देव दीपावली पर गंगा घाटों के तकरीबन 500 मीटर के दायरे में किसी भी होटल, लॉज या धर्मशाला में एक भी कमरे खाली नहीं हैं। इसी तरह से 1500 से ज्यादा छोटी-बड़ी नावों, बजरों और स्टीमरों के साथ ही क्रूजों की एक-एक सीट की बुकिंग भी पहले ही हो चुकी है।

गंगा में स्नान करते श्रद्धालु। हर तरफ काफी भीड़ है।
गंगा में स्नान करते श्रद्धालु। हर तरफ काफी भीड़ है।
कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा घाट पर दीप जलाती महिला।
कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा घाट पर दीप जलाती महिला।
तुलसी घाट के समीप गंगा में कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान करते श्रद्धालु।
तुलसी घाट के समीप गंगा में कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान करते श्रद्धालु।

1500 से ज्यादा जवान सुरक्षा में किए गए थे तैनात
सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर गंगा के दोनों तट पर 1500 से ज्यादा पुलिस-पीएसी के जवान, जल पुलिस, PAC बाढ़ राहत दल के जवान, NDRF के जवान, बम निरोधक दस्ता और डॉग स्क्वायड को तैनात किया गया था।

दशाश्वमेध घाट पर गंगा आरती के लिए हुई सजावट। यहां इंडिया गेट की रिप्लिका बनाई गई है।
दशाश्वमेध घाट पर गंगा आरती के लिए हुई सजावट। यहां इंडिया गेट की रिप्लिका बनाई गई है।

पंचगंगा घाट पर काशी राजपरिवार के डॉ. अनंत नारायण सिंह की मौजूदगी में दो हजार दीप जले। गाय घाट पर अमर जवान ज्योति आकर्षण का केंद्र रही।