पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • Mukhtar Ansari UP Jail Transfered Update; Bahubali Mukhtar's Wife Afsha Ansari Writes Letter To President Ramnath Kovind Over Security Arrangement

मुख्तार की पत्नी ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र:UP लाते समय फर्जी एनकाउंटर की जताई आशंका, कहा- मेरे पति के लाइफ प्रोटेक्शन का आदेश दें

गाजीपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोर्ट ने इस मामले में अगली सुनवाई 12 अप्रैल तय करते हुए अंसारी को फिर से रोपड़ जेल भेज दिया। उत्तर प्रदेश पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा है। - Dainik Bhaskar
कोर्ट ने इस मामले में अगली सुनवाई 12 अप्रैल तय करते हुए अंसारी को फिर से रोपड़ जेल भेज दिया। उत्तर प्रदेश पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा है।

पंजाब की जेल में बंद मऊ से बसपा विधायक मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी ने बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक पत्र लिखा है। अफशां ने पंजाब से उत्तर प्रदेश लाते समय मुख्तार के फर्जी एनकाउंटर किए जाने का अंदेशा जताया है। ऐसे में उनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित किया जाएं।

अफशां अंसारी ने पत्र में यह भी कहा है कि उनके पति मुख्तार अंसारी इस समय पंजाब की रोपड़ जेल में बंद हैं। उच्चतम न्यायालय ने 26 मार्च को अपने आदेश में उन्हें रोपड़ जेल से 2 सप्ताह के अंदर बांदा जेल भेजने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि उनके पति एक मामले में चश्मदीद गवाह हैं, जिसमें भाजपा के विधान परिषद सदस्य माफिया बृजेश सिंह और त्रिभुवन सिंह अभियुक्त हैं। अफशां के अनुसार, यह दोनों अभियुक्त सरकारी तंत्र की कथित मिलीभगत से अंसारी को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। लिहाजा इस बात का खतरा महसूस हो रहा है कि पंजाब की जेल से बांदा लाए जाते वक्त रास्ते में फर्जी मुठभेड़ की आड़ में अंसारी की हत्या की जा सकती है।

अफशां ने पत्र में कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के कुछ अधिकारियों के पूर्व में किए गए क्रियाकलापों से आवेदक का परिवार भयभीत है और अपने पति के जीवन की सुरक्षा के प्रति घोर चिंतित है। आवेदक को मिल रही पुख्ता सूचना और धमकी के कारण ऐसा लगता है कि अगर मेरे पति के जीवन की सुरक्षा के लिए जिम्मेदारी तय किए बगैर उन्हें उत्तर प्रदेश भेजा गया तो निश्चित रूप से कोई झूठी कहानी रच कर मेरे पति की हत्या करा दी जाएगी। इसलिए राष्ट्रपति से गुजारिश है कि वह उत्तर प्रदेश लाए जाते वक्त मेरे पति के ‘लाइफ प्रोटेक्शन' का आदेश दें।

केंद्रीय रिजर्व बल के दस्ते के साथ जेल से अदालत लाया जाए

उन्होंने राष्ट्रपति से कहा कि अन्य विचाराधीन बंदियों की तरह उनके पति को भी कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण अदालत में खुद पेश होने से छूट दी गई है और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेशी कराई जा रही है। अफशां ने गुजारिश की कि अगर किसी मामले में उन्हें अदालत में पेश करना बहुत जरूरी हो तो राष्ट्रपति सरकार को केंद्रीय रिजर्व सुरक्षा बल के दस्ते के साथ जेल से अदालत और अदालत से वापस जेल तक सुरक्षित भेजने के प्रबंध का आदेश दें।

खबरें और भी हैं...