वाराणसी में मिले डेंगू के 4 मरीज:घर में लार्वा मिलने पर दिया नोटिस; 2589 लोगों का चेकअप

वाराणसी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी में डेंगू के मरीजों में रोज बढ़ोतरी हो रही है। मलेरिया विभाग ने आज 225 घरों का सर्वे कर लार्वा की जांच की। - Dainik Bhaskar
वाराणसी में डेंगू के मरीजों में रोज बढ़ोतरी हो रही है। मलेरिया विभाग ने आज 225 घरों का सर्वे कर लार्वा की जांच की।

आज वाराणसी में डेंगू के चार मरीज सामने आए हैं। इन्हें मिलाकर अब कुल मरीजों की संख्या 40 हो गई है। आज हुकुलगंज, मीरापुर बसही, टकटकपुर और लालपुर में डेंगू के मरीज सामने आए हैं। इसमें तीन महिला और एक आदमी शामिल है।

जिला मलेरिया अधिकारी एससी पांडेय ने बताया कि आज जिन-जिन इलाकों में डेंगू के मरीज सामने आए हैं, उस एरिया में नगर निगम और मलेरिया विभाग द्वारा एंटी लार्वा का छिड़काव कराया गया।

वाराणसी के हुकुलगंज में डेंगू मरीज सामने आने पर फॉगिंग कराई जा रही है।
वाराणसी के हुकुलगंज में डेंगू मरीज सामने आने पर फॉगिंग कराई जा रही है।

जिन-जिन कॉलोनियों में रोगी मिले हैं वहां पर फॉगिंग भी कराई गई। मलेरिया विभाग की टीम के 15 लाेगों ने आज फीवर सर्वे किया। मलेरिया विभाग ने 225 घरों का सर्वे कर 334 जल पात्रों यानी कि पानी की टंकियों, ड्रम आदि की जांच हुई। एक घर में लार्वा मिलने पर उन्हें नोटिस दी गई।

वाराणसी में जिन-जिन पर डेंगू के मरीज मिल रहे हैं, वहां पर एंटी लार्वा का छिड़काव किया जा रहा है।
वाराणसी में जिन-जिन पर डेंगू के मरीज मिल रहे हैं, वहां पर एंटी लार्वा का छिड़काव किया जा रहा है।
वाराणसी में आज से बच्चों को की खुराक दी जा रही है।
वाराणसी में आज से बच्चों को की खुराक दी जा रही है।

वाराणसी में आज बूथ दिवस पर 2.43 लाख बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई गई। भेलूपुर स्थित एसवीएम राजकीय अस्पताल से पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत हुई। यह अभियान कल से 23 सितंबर तक घर-घर अभियान चलेगा।

स्वास्थ्य विभाग की टीम दवा पिलाएगी। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. निकुंज कुमार वर्मा ने कहा कि आज वाराणसी के 1808 बूथों पर एक साथ पोलियो अभियान की शुरुआत हुई। इसे जिले के हर बच्चे तक पहुंचाने के लिए SDM, BSA, ICDS, NDRF, पंचायती राज और दूसरे विभागों से मदद मांगी गई है।

दूसरी भी वैक्सीन लगाई जा रही

पोलियाे के साथ ही बच्चों को दूसरे जरूरी वैक्सीन भी लगाई जा रही है। पल्स पोलियो का ड्रॉप बर्थ के ही टाइम से दिया जाता है। इसके अलावा 6, 10 और 14 सप्ताह पर भी यह ड्रॉप पिलाया जाता है।

इसकी बूस्टर खुराक सोलह से चौबीस महीने की उम्र में भी दी जाती है । भारत सरकार के नेशनल हेल्थ पोर्टल पर 23 अक्टूबर, 2018 को प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक पोलियो के 200 इंफेक्शन में से एक केस विकलांग (पक्षाघात) बना देता है। इसमें 5 से 10% लोगों की मौत हो जाती है।

अभियान: एक नजर में

  • टारगेटेड मकान : 7.46 लाख
  • टारगेटेड बच्चे : 5.68 लाख
  • पर्यवेक्षक : 364
  • घर-घर जाने वाली टीम : 1265
  • ट्रांजिट टीम : 36
  • मोबाइल टीम : 36

116 ने बनवाए आयुष्मान कार्ड

वाराणसी में आज 52 PHC पर मुख्यमत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला लगाया गया। वहीं इस दौरान 65 हेल्थ सेंटरों पर 2589 मरीजों का बुखार और दूसरे रोगों के टेस्ट किए गए। इसके बाद 116 लोगाें के आयुष्मान कार्ड बनाए गए।

वाराणसी के CMO डॉ. संदीप चौधरी ने बताया कि स्वास्थ्य शिविर में गोल्डन कार्ड बनवाने, गर्भावस्था और प्रसव के दौरान परामर्श, कंप्लीट वैक्सीनेशन और फैमिली प्लानिंग से जुड़ी सुविधाएं दी जा रहीं हैं।

डायरिया, निमोनिया की रोकथाम के साथ ही टीबी, मलेरिया, डेंगू, फाइलेरिया, कुष्ठ आदि बीमारियों से कैसे खुद को बचाए यह भी जानकारी दी जा रही है।